fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

इलाहाबाद बना प्रयागराज, भाजपा आगे भी स्थानों के नाम बदलने पर कर सकती है कार्रवाई

भाजपा ने देश के धार्मिक, शैक्षिक और राजनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण शहर इलाहाबाद का नाम प्रयागराज कर दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इस नाम को मंजूरी दे दी है। आपको बता दे की इलहाबाद का नाम प्रयागराज इसलिए किया गया है क्यूंकि भाजपा प्रवक्ता मनीष शुक्ल के मुताबिक अकबर ने करीब 400 वर्ष पूर्व प्रयागराज का नाम बदल कर इलाहाबाद किया था। आज उस भूल को सुधारने का काम भाजपा सरकार ने किया है। मनीष शुक्ल ने विपक्षी दल जो नाम परिवर्तन का विरोध कर रहे है उनपर निशाना साधते हुए कहा की जिस मानसिकता से 15वीं शताब्दी में अकबर ने नाम परिर्वितत किया था, उसी मानसिकता के लोग आज इलाहाबाद का नाम प्रयागराज होने पर विरोध कर रहे हैं।

Advertisement

allahbaad
इलाहबाद नाम परिवर्तन करने के बाद विपक्षी दलों ने भाजपा का विरोध किया है सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्ववीट करके इसका विरोध किया है उन्होंने अपने ट्वीट में कहा की राजा हर्षवर्धन ने अपने दान से ‘प्रयाग कुम्भ’ का नाम किया था और आज के शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं. इन्होंने तो ‘अर्ध कुम्भ’ का भी नाम बदलकर ‘कुम्भ’ कर दिया है. ये परम्परा और आस्था के साथ खिलवाड़ है।

वही दूसरी और उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के अखिलेश यादव के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा की आस्था के साथ खिलवाड़ तो तब हुआ था जब इस संगम नगरी का नाम बदलकर इलाहाबाद रखा गया था। शर्मा ने कहा कि इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किए जाने पर कुछ लोग जो आपत्ति जता रहे हैं, वह निराधार है। किसी जिले का नाम बदलना सरकार का अधिकार है। जहां तक आस्था की बात है तो आस्था से तब खिलवाड़ हुआ था, जब प्रयागराज का नाम बदलकर इलाहाबाद रखा गया था।


भाजपा प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई देते हुए कहा कि विष्णुपुराण, मत्स्यपुराण और महाभारत में भी प्रयागराज की चर्चा है। उन्होंने यह भी कहा की अगर भविष्य में भी किसी स्थान की प्रतिष्ठा के अनुकूल नाम बदलने की आवश्यकता पड़ती है तो सरकार उस पर भी कार्रवाई करेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved