fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

प्रज्ञा ठाकुर का एक और विवादित बयान, देश के पहले प्रधानमंत्री को बताया अपराधी

Another-controversial-statement-of-Pragya-Thakur,-the-first-Prime-Minister-of-the-country-told-criminal
(image credits: the print)

आज कल बीजेपी के लोग देश के बड़े मुद्दों से हट कर दूसरे मुद्दों को उठाने में लगे है। बीते कल को लेकर आजकल बीजेपी कई बड़े सवाल खड़े कर रही है यहाँ तक की अब बीजेपी के लोग जवाहरलाल नेहरू को भी आरोपी घोषित करने में लगे है। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को लेकर यूँ तो पहले भी बीजेपी के लोगो ने कई टिप्पीड़ियाँ की है। परन्तु इस बार उन्हें आरोपी बता दिया गया। 

Advertisement

मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का भी नाम शामिल हो गया है। नेहरू पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के बयान का समर्थन करते हुए ठाकुर ने पहले पीएम को अपराधी’ करार दे दिया।

प्रज्ञा ठाकुर के मुताबिक, जब भारतीय सुरक्षाबल पाकिस्तानी कबीलाई लड़ाकों को पीछे ढकेल रहे थे तो ऐसे वक्त में सीजफायर की घोषणा करने वाले नेहरू एक ‘अपराधी’ थे। इससे पहले शिवराज चौहान ने भी नेहरू को पाक अधिकृत कश्मीरयानि POK  के लिए जिम्मेदार ठहराया था। शिवराज ने कहा था कि यह इलाका भारत का हिस्सा होता अगर भारतीय सुरक्षाबल पाकिस्तानी सेना को पूरी तरह कश्मीर से बाहर खदेड़ देते।

शिवराज के बयान का समर्थन करते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि इस बात में कोई शक नहीं कि जो देश को नुकसान पहुंचाता हो या इसे तोड़ने की कोशिश करता हो, वह एक अपराधी है। मालेगांव धमाकों की आरोपी ठाकुर ने जम्मू-कश्मीर को लेकर सरकार के फैसले की आलोचना करने वालों को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने की आलोचना करने वाले देशभक्त नहीं हो सकते।

दूसरी और राज्य की सत्ताधारी कांग्रेस ने बीजेपी नेता के बयान को लेकर टि्वटर के जरिए करारा जवाब दिया है। सीएम कमलनाथ के मीडिया कॉर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट किया, गोडसे को देशभक्त बताने वाली,साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, आज़ादी के संघर्ष के लिये जेल जाने वाले नेहरू जी को अपराधी बता रही है? अपराधी कौन?’


इससे पहले, बीजेपी सांसद हंसराज हंस ने 1984 में सिख विरोधी दंगों के लिए भी नेहरू को जिम्मेदार ठहराया। जब हंसराज हंस को यह बताया गया कि सिख दंगे इंदिरा गांधी की मौत के बाद हुए थे तो भाजपा सांसद ने अपना बयान बदल लिया। यह बात समझने की जरूरत है की आखिर बीजेपी के लोग असली मुद्दों से हट कर बीते कल का मुद्दा क्यों उठा रहे है ? क्या बीजेपी अपनी नाकामी को छुपाने की कोशिश कर रही है या फिर बीजेपी देश के लोगो को गुमराह कर रही है। 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved