fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

बीएचयू में दलित छात्रा को टॉयलेट के इस्तेमाल से रोका

BHU-prevented-Dalit-girl-from-using-toilet

शिक्षा संस्थानों में दलितों के साथ भेद भाव की खबरे देश के हर कोने से लगतार आती रहती है। हाल ही में विश्वप्रसिद्ध हिन्दू बनारस यूनिवर्सिटी से ऐसे ही खबर सामने आ रही है। बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में टीचर द्वारा दलित छात्रा से टॉयलेट साफ कराने का मामला अभी शांत नहीं हुआ था कि एक और दलित छात्रा ने सुरक्षाकर्मियों पर जातिगत भेदभाव करने का आरोप लगाया है।

Advertisement

छात्रा का आरोप है कि दलित होने की वजह से बीएचयू के सुरक्षाकर्मियों ने उसे शौचालय का इस्तेमाल करने से रोका। इसे लेकर छात्रा और सुरक्षाकर्मियों के बीच कुछ देर तक नोंकझोक भी हुई। छात्रा ने यूनिवर्सिटी प्रशासन को लिखित शिकायत की है।

यूनिवर्सिटी में इन दिनों काउंसलिंग का दौर चल रहा है। इसे लेकर कला संकाय की छात्रा ने महिला महाविद्यालय के गेट पर नए छात्रों की मदद के लिए ‘बीएचयू बहुजन हेल्प डेस्क’ लगाया था। छात्रा का आरोप है कि गुरुवार को दोपहर में उसने गेट पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों से टॉयलेट इस्तेमाल करने के लिए परमिशन मांगी, जिसे मना कर दिया गया।

छात्रा के मुताबिक, सुरक्षाकर्मियों ने कहा कि आप या तो अपने हॉस्टल जाइए या फिर सर सुंदरलाल हॉस्पिटल में बने टॉयलेट का इस्तेमाल करिए। सुरक्षाकर्मियों द्वारा रोके जाने पर छात्रा ने विरोध किया। इसके बाद दोनों पक्षों में काफी देर तक बहस होती रही, लेकिन सुरक्षाकर्मी नहीं माने।

वहीं, चीफ प्रॉक्टर ओपी राय ने छात्रा के आरोपों को खारिज किया है। उनके मुताबिक छात्र टॉयलेट के ना इस्तेमाल करने को लेकर इसे मुद्दा बना रही वह है। उनके मुताबिक जिस टॉयलेट को इस्तेमाल करने की परमिशन मांगी थी वह सुरक्षाकर्मियों के लिए था बता दें की बीएचयू में दलित छात्रा के साथ भेदभाव का ये कोई पहला वाक्या नहीं है। दो महीने पहले महिला महाविद्यायल के हॉस्टल में एक दलित छात्रा से टॉयलेट साफ कराने का मामला सामने आया था। इस मामले को लेकर एक कमेटी भी बनाई गई थी।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved