fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

डोनाल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को बताया महान नेता, सरकार की विदेश नीति पर सवाल?

Donald-Trump-told-Pakistani-Prime-Minister-Imran-Khan-a-great-leader,-questioning-the-foreign-policy-of-the-government?
(image credits: gulf news)

मौजूदा सरकार अक्सर पाकिस्तान को अतंरार्ष्ट्रीय स्तर पर अकेले करने की बाते करती है। इसके साथ ही वह यह भी मानती है की PM मोदी का अच्छा दोस्त माने जाने वाले अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी पाकिस्तान को अतंरार्ष्ट्रीय स्तर पर अलग थलग करने के लिए भारत के साथ है। लेकिन वास्तविक में ऐसा होता नहीं दिख रहा है। ऐसा हम इसलिए कह रहे है की क्यूंकि अमेरिका में चल रहे कार्यक्रम हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की तारीफ़ की है।

Advertisement

दरअसल जब डोनाल्ड ट्रम्प से पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद के मोर्चे पर उठाए जा रहे कदमों पर सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा, ‘मैंने सुना है कि वे काफी बेहतर कर रहे हैं। आपके पास एक महान नेता है। और ऐसा ही होना चाहिए वर्ना सिर्फ अराजकता और गरीबी होगी।’ हालाँकि देखा जाये तो पाकिस्तान को अंतरार्ष्ट्रीय स्तर पर अलग करने की ही जरुरत है। परन्तु ऐसा लगता है मौजूदा सरकार द्वारा ऐसा करने के लिए किये गए प्रयासों में कमी आती दिख रही है।

इसके अलावा कश्मीर पर उन्होंने कहा की वह हमेशा मध्यस्था के लिए तैयार है अगर दोनों देश राजी हो तो। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के साथ दि्वपक्षीय बातचीत से पहले मीडिया को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘मैं हमेशा मदद के लिए तैयार हूं। हालांकि, यह इन दोनों भद्रजनों पर निर्भर करता है। मैं तैयार हूं, इच्छुक हूं और सक्षम हूं। अगर दोनों ही ऐसा चाहते हैं तो मैं ऐसा जरूर करूंगा।’

हालांकि, पाकिस्तानी मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कम से कम तीन बार यह साफ किया कि वह तभी मदद करेंगे, जब दोनों ही पक्ष इसके लिए तैयार हों।

मालूम हो की इससे पहले जुलाई में ट्रंप ने यह दावा करके विवाद खड़ा कर दिया था कि भारतीय पीएम ने उन्हें कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता कराने के लिए कहा है। वहीँ भारत ने इस दावे को तुरंत ही सिरे से खारिज कर दिया था।


देखा जाये तो भारत से अच्छे सम्बन्ध होने के बावजूद ट्रम्प द्वारा पाकिस्तान में आतंकवाद के मुद्दे पर इमरान खान के लिए भारत से अलग रुख अपनाया जा रहा है। एक तरफ देश की सरकार यह दावा करती है की उन्होंने पाकिस्तान के मामले में अमरीका को अच्छा साथी बना लिया है , वहीं दूसरी और अमरीकी राष्ट्रपति द्वारा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की तारीफ़ करना, भारत के विदेश निति पर कही न कहीं कुछ सवाल तो जरुर खड़े करता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved