fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

20 करोड़ के घूस लेने में पकडे गए थे भाजपा के पूर्व मंत्री, सहयोगी ने कहा- लौटा दूंगा रकम

janardhan-reddy-pti
(Image Credits: Indian Express)

हाल ही में बीजेपी के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी और उनके सहयोगी को बेंगलुरु पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था। उन पर एक वित्तीय सेवाये देने वाली कंपनी से 20 करोड़ रूपए का घूस लेने का आरोप लगा था। इस कंपनी पर सैंकड़ों निवेशकों के 600 करोड़ से ज्यादा की रकम हड़पने का आरोप है।

Advertisement

पुलिस का कहना है की कंपनी ने यह पैसा अपने ऊपर चल रहे ईडी की जांच को बंद करने के लिए दिया था। अब रेड्डी के सहयोगी द्वारा 20 करोड़ की रकम को लौटाने की पेशकश की गई है। उसने दावा किया की उसने 20 करोड़ की यह रकम उधार के तौर पर ली थी।

जनार्दन रेड्डी की जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान मजिस्ट्रेट के सामने पेश हलफनामे में पूर्व मंत्री के निजी असिस्टेंट रह चुके महफूज अली ने एमबियंट मार्केटिंग प्राइवे लिमिटेड के मालिकों को पैसा लौटाने की बात कही। पुलिस का कहना है की 20 करोड़ की घूस लेने में अली ने बिचोलिये की भूमिका अदा की थी।

मार्च 2018 में एंबियंट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के मालिक सैयद अहमद फरीद और जनार्दन रेड्डी के घूस के इस रकम की डील हुई थी। अली ने अपने हलफनामे में कहा की उसने कंपनी से 57 किलोग्राम का सोना लिया था जिसकी कीमत 18 करोड़ थी।

इस सोने का मतलब निजी जीवन में चल रहें बाधाओं को दूर करने के लिए धार्मिक गतिविधियां थीं। अली ने ये भी दावा किया की उसने कंपनी के मालिक को सोने की खरीदारी को अपने नाम पर करने के लिए बोला था।


इसी दौरान, जनार्दन रेड्डी की पुलिस कस्टडी वाली रिमांड एप्लिकेशन में क्राइम ब्रांच ने कहा की रेडी ने यह माना है की अली ने एमबियंट मार्केटिंग कंपनी से 57 किलो सोना हासिल किया। क्राइम ब्रांच के अनुसार रेड्डी ने अपने सहयोगी से कहा की वह कंपनी का पैसा लौटा दे जिससे धोखा खाये उनके निवेशकों के पैसों की भरपाई करी जा सके।

क्राइम ब्रांच ने बताया की कंपनी के मालिक सैयद अहमद फरीद के साथ रेड्डी ने इस साल के शुरआत में एक फाइव स्टार होटल में मीटिंग की थी। फरीद के मुताबिक़, रेड्डी ने उनकी कंपनी के खिलाफ चल रहे ईडी की जाँच को रफादफा करने के लिए 25 करोड़ रूपए मांगे थे। पुलिस का कहना है की फरीद ने 20 करोड़ रूपए देने की पेशकश की लेकिन रेड्डी ने सोने के रूप में भुगतान करने के लिया कहा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved