fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार पर लगाए आरोप, कहा-पूरी कौम को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है

former-chief-minister-of-jammu-and-kashmir-omar-abdullah-allegation-on-central-government-said-trying-to-defame-the-whole-community
(Image Credits: India Today)

राजनीतिक पार्टियों द्वारा बयानबाजी तो आम बात है, पार्टियां अक्सर अपने राजनीतिक फायदे के लिए विपक्षी पार्टियों के ऊपर कोई न कोई जुबानी प्रहार करती रहती है। और कभी कभी पार्टियों के इन बयानबाजी से लोकतंत्र को मजबूती भी मिलती है। वहीं कभी कभी पार्टियां अपनी नाराजगी जताते हुए विपक्षी पार्टियों पर ऐसा बयानबाजी कर देती है, जिससे कभी कभी राजनीति में हलचल मच जाती है।

Advertisement

हम बात करने जा रहें है जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की, दरअसल एक दिन पहले ही उन्होंने अपने बयान से सबको हैरान कर दिया है। उन्होंने हाल ही में हुए पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों के खिलाफ हो रही हिंसा को लेकर केंद्र सरकार पर बड़े सवाल उठाए हैं। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक सोची समझी साजिश के तहत, एक पूरी कौम को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने कहा की देश भर में कश्मीरियों को निशाना बनाया जा रहा है। साथ उन्होंने कहा हमारे जो बच्चे बच्चियां बाहर की यूनिवर्सिटी में पढ़ते हैं, उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। छत्तीसगढ़ का उदाहरण देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा, जब छत्तीसगढ में पुलवामा से ज्यादा CRPF के जवान शहीद हुए तब उसको अलग-थलग करने की बात नहीं हुई, उनके छात्रों को परेशान नहीं किया गया।

साथ उन्होंने बीजेपी के दोहरे चरित्र के बारे में बताते हुए कहा की जब हम घाटी में हालात सुधारने के लिए बातचीत के लिए कहते हैं तो हमें ऐंटी नेशनल बता दिया जाता है, लेकिन जब पीएम मोदी सऊदी प्रिंस से मिलते हैं तो उसे देश हित में साझा बयान कहा जाता है।

इतना ही नहीं देश में पुलवामा हमले के बाद जानबूझ के इस प्रकार के हालात बना दिए गए है। जिसके कारण एक खास समुदाय के लोगो को बहुत कुछ झेलना पड़ रहा है। पंजाब केसरी में छपी खबर के अनुसार, उमर अब्दुल्लाह ने कहा कि होटलों में बोर्ड लगाया गया कि हम किसी को भी कमरा दे देंगे लेकिन कश्मीरियों को नहीं देंगे तो क्या इससे माहौल नहीं बिगड़ेगा। साथ उन्होंने कोलकाता में कश्मीरी छात्र की पिटाई की भी निंदा की।


राजनीतिक पार्टियों द्वारा पूर्ण रूप से यह कोशिश की जा रही है की , जितना हो सके वो कश्मीर में हुई इस घटना का चुनावी रूप से फायदा उठा सके। और मीडिया भी इस मामले में पार्टियों का पूरा सहयोग करती दिख रही है। उमर अब्दुल्ला के दिए गए इस बयान से एक बात तो जरूर शाबित होती है की देश में मौजूदा सरकार किस तरह से एक खास समुदाय के प्रति अपने दोहरे चरित्र को दिखाती है।

प्रधानमंत्री लाल किला से खड़े होकर सबका साथ सबका विकास जैसी कितनी ही बड़ी बातें क्यों न कर ले, लेकिन सच्चाई तो यह है की बीजेपी पार्टी हमेशा से ही हिंदुत्व विचारधारा को ही तवज्जों देती आई है। और इसी कारण ही आज देश में ऐसे हालात बन गए है जहां किसी विपक्षी पार्टी के नेता द्वारा मौजूदा सरकार पर इस प्रकार के गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved