fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

पूर्व नौसेना प्रमुख ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- सेना का गलत इस्तेमाल कर रही है सरकार

Former-naval-chief,-targets-the-government,-said - the-government-is-misusing-the-army
(Image Credits: Dainik Bhaskar)

14 फरवरी को हुए पुलवामा की घटना के बाद देश में एक अलग ही माहौल बना हुआ है। हमले के बाद पूरा देश जिस तरह के सदमे में डूब गया, दूसरी ओर अलग अलग राजनैतिक पार्टियों का भी बयान सामने आया की हम सब मौजूदा बीजेपी सरकार के साथ है, और वो जो भी कदम उठाएंगे विपक्ष उनका साथ देगा। चुनावी माहौल होने के कारण सभी राजनैतिक पार्टिया भी फूंक फूंक कर कदम रख रही है।

Advertisement

वही इस पुरे मामले पर भारतीय जनता पार्टी पर सबकी नज़र थी की वह अब क्या एक्शन लेती है, अगर आप 14 फ़रवरी के बाद की राजनीतिक हलचलों को देखें तो आपको साफ़ दिखेगा बीजेपी पूरी सक्रियता के साथ चुनावी अभियान चला रही है जबकि कांग्रेस का उतनी सक्रीय नहीं दिखी. कांग्रेस शायद रुककर देखना चाहती है कि पुलवामा कांड कैसे आगे बढ़ेगा, उसे यह भी दिख रहा है कि इस हमले के बाद लोगों में बहुत गुस्सा है जिसे अपने पक्ष में मोड़ने की कोई तरकीब उसे नहीं दिख रही है.

वही भारतीय जनता पार्टी ने इन सभी चीज़ो का आसानी के साथ फ़ायदा उठा लिया, बीजेपी बड़ी सहजता से देशभक्ति, सेना, राष्ट्रवाद, हिंदुत्व, मोदी, वंदे मातरम, भारत माता की जय जैसे पुराने नारों पर लौट आई है. रोज़गार, विकास, राफ़ेल की बात अभी कोई सुनने को तैयार नहीं दिख रहा। ऐसे माहौल में विपक्षी पार्टी के पास चुप रहने के अलावा कोई और चारा भाजपा ने नहीं छोड़ा।

भाजपा ने पुलवामा घटना को एक राजनैतिक मुद्दा बना दिया है। वही इस मुद्दे को देखते हुए अब रिटायर्ड पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल एल रामदास ने राजनीतिक दलों के द्वारा पुलवामा हमले, बालाकोट हवाई हमले और विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान के भारत वापसी वाले सभी मुद्दों के संचालन को लेकर चुनाव आयोग के तत्काल हस्तक्षेप के लिए कहा है उनका कहना है की राजनैतिक पार्टिया खासकर मौजूदा भजपा सरकार इन सभी मुद्दों को उठा कर मतदाताओं को प्रभावित करने का प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा की “अब से कुछ हफ्तों में लोकसभा चुनाव भारत में होने वाले है और यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है कि किसी भी राजनीतिक दल द्वारा इन हालिया घटनाओं का कोई दुरुपयोग नहीं किया जाना चाहिए और ना ही राजनैतिक पार्टियों को विजयवादी और राष्ट्रवादी संदेशो का प्रयोग करना चाहिए।


नौसेना के पूर्व प्रमुख ने अपने दो पन्नों के पत्र में कहा कि “सशस्त्र बलों ने हमेशा सभी को प्रेरित किया है, वह हमेशा ही वह हर परिस्थिति में अराजनैतिक और धर्मनिरपेक्ष रहे हैं।

उन्होंने कहा की ” राजनैतिक दलों द्वारा अपने चुनावी अजेंडे को बढ़ाने के लिए सेना का इस्तेमाल किया जा रहा है, चुनावी रैलियों में सेना की वर्दी, जवानो की राजनीतिक हस्तियों के साथ तस्वीरें सार्वजनिक स्थानों पर, मीडिया में, चुनावी रैलियों में सरेआम प्रयोग की जा रही है, राजनैतिक पार्टिया सशस्त्र बलों की तस्वीरें का गलत तरीके से प्रयोग कर उनकी भावना को ठेस पहुंचने का काम कर रही है ‘

पूर्व नौसेना प्रमुख ने इस पुरे मामले पर आपत्ति जताई है और उन्होंने इस मुद्दे पर चुनाव आयोग से अपने ओपन लेटर के जरिये कहा है की चुनाव आयोग तत्काल इस मुद्दों पर हस्तक्षेप करे और राजनीतिक दलों को एक मजबूत संदेश भेजने का आग्रह करे ताकि तस्वीरों का कोई दुरुपयोग चुनाव के समय में मतदाताओं को प्रभावित करने के किये ना किया जा सके।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved