fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

BJP राज में कुंवारी लड़कियों के फोन रखने पर बैन, लगेगा 1.50 लाख का जुर्माना

gujarat-thakor-community-bans-cellphones-for-unmarried-girls

आज के समय में जहाँ सरकार महिलाओं और पुरषो में समानता की बड़ी बड़ी बाते करती है वही आज देश के कई इलाको में लड़कियों के लिए तुगलकी फरमान ज़ारी कर उनकी स्वतंत्रता और समानता को छीना जा रहा है। हाल ही में मीडिया में ब्राह्मण बीजेपी विधायक की बेटी साक्षी और दलित युवक अजितेश की शादी के बाद मीडिया ने जिस तरह से इस पुरे मुद्दे को दिखाया है उसके बाद देश के सभी कोने में एक इंटर कास्ट शादी को लेकर मुद्दा और गरमा गया है। साक्षी मिश्रा के साहसी कदम को किसी ने सराहा तो किसी ने दोनो के इस फैसले को गलत भी बताया।  अब इस मुद्दे के बाद ही गुजरात के बनासकांठा से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। 

Advertisement

भारतीय जनता पार्टी दांतीवाड़ा में ठाकोर समुदाय द्वारा एक नया नियम बनाया गया है जिसमें अविवाहित लड़कियों के मोबाइल फोन रखने पर प्रतिबंध लगाया है।  रविवार को जलोल गांव में हुई समुदाय की मीटिंग में कुछ फैसले लिए गए जिन्हें गांव के लोगों द्वारा संविधान की तरह ही उनके फैसले को मानने को कहा गया है।  नए नियमों के मुताबिक अविवाहित लड़कियों को फोन नहीं दिया जाएगा और अगर कोई लड़की इस नियम को तोड़ती है तो इसे अपराध माना जाएगा। सजा के तौर पर लड़की के पिता से 1.50 लाख रुपए लिए जाएंगे। हालाँकि चौकाने वाली बात यह भी है की इस नियम को कांग्रेस की स्थानिय महिला विधायक गनीबेन ठाकोर ने भी समर्थन दिया है।

ठाकोर जो वाव क्षेत्र की विधायक है ने आज कहा कि दांतीवाड़ा के 12 गावों में समुदाय ने जो नियम बनाये हैं उनमें से कई का वह समर्थन करती हैं। उन्होंने कहा, टेक्नोलॉजी के इस जमाने में जब तक लड़कियों की शादी नहीं होती तब तक या 18 साल की उम्र तक उन्हें मोबाइल फोन से दूर रहकर पढ़ाई लिखाई करनी चाहिए और इसमें कुछ गलत भी नहीं है। मैं तो इस मामले में सरकार से भी सहयोग की अपेक्षा रखती हूं। 

मीटिंग के दौरान गांव की सभी लड़कियों को मोबाइल फ़ोन ना रखने और किसी दूसरी जाति के लड़के के साथ बातचीत करने से भी मना किया गया है इसके साथ ही सभी लड़कियों को इसकी शपत भी दिलवाई गई है।  अगर उन्होंने मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल किया और किसी दूसरी जाति के लड़के से बातचीत भी करी तो इसका खामियाज़ा सीधे तौर पर उनके माता पिता को भुगतना होगा। जुर्माने के तौर पर उन्हें डेढ़ लाख रूपए देने होंगे। ग्रामीणों ने तय किया है कि अगर कोई लड़की अपने परिवार की इच्छा के बिना शादी करती है तो यह अपराध माना जाएगा ग्रामीणों ने तय किया है कि अगर कोई लड़की अपने परिवार की इच्छा के बिना शादी करती है तो यह अपराध माना जाएग।

वहीं ठाकोर समुदाय के नेता और पूर्व कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने इस मुद्दे पर कहा की अविवाहित लड़कियों को फोन ना रखने देने संबंधी नियम में समस्या है। अगर वे ऐसा नियम लड़कों के लिए भी बनाएं तो यह अच्छा होगा। मैं लव मैरिज के लिए बनाए नियम पर कुछ नहीं कह सकता, मेरी खुद की भी लव मैरिज ही हुई थी.’ हालाँकि इस पुरे मामले में अभी तक भारतीय जनता पार्टी के नेताओ के कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। 


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved