fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

जहां दलित MLA ने दिया धरना उस स्थान का युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया ‘शुद्धिकरण’

kerala-youth-congress-workers-sprinkle-cow-dung-water-to-purify-where-dalit-mla-had-protested

केरल में भाकपा के दलित विधायक के धरने के विरोध में प्रदर्शन के दौरान युवा कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं के एक समूह ने कथित तौर पर एक स्थान को शुद्ध करने के लिए गाय के गोबर-मिश्रित पानी का छिड़काव किया, जहां एक दलित विधायक ने विरोध प्रदर्शन किया था उस स्थान को शुद्ध करने के लिए ऐसा किया गया जिसके बाद से  विवाद खड़ा हो गया है। विधायक ने इसे जातिवादी करार देते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज करायी। राज्य के मंत्रियों ने भी युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की निंदा की और कहा कि ऐसे कृत्य स्वीकार नहीं किये जा सकते हैं। 

Advertisement

त्रिशूर में नट्टिका निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाली गीता गोपी इलाके में सड़क की ‘खराब दशा’ के विरूद्ध लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठी थीं।  उनके विरोध में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मार्च निकाला और आरोप लगाया कि धरना लोगों को ‘बेवकूफ’ बनाने की हरकत है। जहां पर गीता धरने पर बैठी थीं, वहां युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रतीकात्मक शुद्धिकरण के तौर पर गाय के गोबर मिश्रित पानी का छिड़काव भी किया। 

दलित विधायक गीता गोपी ने आरोप लगाया कि यह शुद्धिकरण का कार्यक्रम जातिवादी था और उन्होंने रविवार को पुलिस में शिकायत दर्ज करायी। केरल के संस्कृति मंत्री ए के बलान ने कहा, ‘ऐसी हरकतें आम तौर पर उत्तरी भारत में देखने को मिलती है। इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता’ 

यह घटना शनिवार को हुई जब भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विधायक ने चेरपु मिनी सिविल स्टेशन के परिसर में विरोध प्रदर्शन किया, जिसमें त्रिपयार से चेरपु राज्य राजमार्ग पर रखरखाव कार्य की मांग की गई।  रखरखाव के काम के बारे में  पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से आश्वासन मिलने के बाद उन्होंने अपना विरोध प्रदर्शन समाप्त कर दिया था। विधायक के धरनास्थल से चले जाने के बाद, युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का एक दल प्रदर्शन स्थल पर पहुंचा और कथित तौर पर ‘जगह को शुद्ध करने’ के लिए गोबर-मिश्रित पानी छिड़का। 

केरल के स्वास्थ्य, सामाजिक न्याय और महिला और बाल विकास मंत्री केके शैलजा ने इस घटना की निंदा की और कहा कि कांग्रेस अपने कार्यों के माध्यम से पार्टी की संस्कृति को दिखा रही है।  शैलजा ने कहा कि ‘गीता गोपी के खिलाफ जातिवादी भेदभाव चौंकाने वाला है। यह आपराधिक और बेहद निंदनीय है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक स्थान पर गाय के गोबर-मिश्रित पानी डाला, जहां विरोध प्रदर्शन किया गया। ऐसे काम को अंजाम देने वाले लोग अपनी संस्कृति दिखा रहे हैं। यह अस्पृश्यता का डर वापस ला रहा है। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए.’


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved