fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

नरेंद्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना हुई फेल, मेडीकल कॉलेज के स्टाफ ने पीड़ित से कहा जाओ पहले मोदी से पैसा लेकर आओ

narendra modi ayushman scheme
(Image Credits: Social News XYZ)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने मरीजों की राहत के लिए आयुष्मान भारत योजना का निर्माण किया था जिसके तहत मरिजो को मुफ्त इलाज दिया जाना था। परन्तु उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ऐसा मामला सामना आया है जिसमे आयुष्मान भारत की योजना को विफल साबित कर दिया है। आयुष्मान भारत के तहत मुफ्त इलाज ना मिलने पर पीड़ित पक्ष ने आरोप लगाया है।

Advertisement

किंग जॉर्ज्स मेडिकल यूनिवर्सिटी के स्टाफ ने कहा था ‘जाओ पहले मोदी से पैसा लेकर आओ। स्टाफ का यह रवैया तब सामने आया जब पीड़ित के घर वालो के पास योजना से सम्बंधित कार्ड भी था। इसके चलते पीड़ित के परिवार वालो ने मेडिकल कॉलेज में जम कर हंगामा किया। कुछ समय बाद स्थानीय विधायकों ने इस मामले में दखल दी जिसके चलते पीड़ित का इलाज शुरू किया गया।

यह मामला शाहजहांपुर के तिलहर निवासी कमलेश (28 वर्षीय) से जुड़ा है। वह बिजली विभाग में संविदाकर्मी है। तीन दिन पहले बिजली का काम करते समय वह करंट की चपेट में आ गए थे।  आनन -फानन में उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया गया, जहाँ उन्हें केजीएमयू जाने के लिए कहा गया। सोमवार को घर वाले उन्हें यहाँ ले आये पर डॉक्टरों को दिखाने के बाद उन्हें डिजास्टर वॉर्ड में भेज दिया गया।

कमलेश के चाचा हिरश्चंद्र का कहना है की उनके पास आयुष्मान भारत योजना का कार्ड भी है जिसके चलते उन्होंने मेडिकल कॉलेज में मुफ्त इलाज की मांग की थी। डॉक्टर मुफ्त इलाज की बात पर भड़क उठे। काउंटर पर बैठे स्टाफ ने कहा था ‘यहाँ मुफ्त इलाज नहीं होता, जाओ मोदी से पैसा लेकर आओ फिर इलाज करेंगे।

इसकी जानकारी तिलहर विधायक रोशन लाल को दी गयी जो मंगलवार को मौके पर पहुँच गए। रोशन लाल के कहने के बाद स्टाफ ने मरीज़ को भर्ती किया और योजना के लिए जरूरी कागजी कार्रवाई की।


पीड़ित पक्ष के अनुसार इलाज के पश्चात उन्हें पांच हजार रुपये की दवाई बहार से खरीद कर लानी पड़ी थी।  इस मामले पर विधायक ने मेडिकल कॉलेज और प्रशासन पर नाराजगी जताई है और कहा है की यह मसला सदन में पुर जोर तरीके से उठाया जायेगा।

सफाई देते हुए केजीएमयू के मिडिया प्रभारी संतोष कुमार ने सोमवार को एएनआई से कहा ‘हम उन अस्पतालों मे से है जहाँ यह योजना सबसे पहले लागू की गयी। इस मामले में डाक्टर के खिलाफ करवाई की जाएगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved