fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

सरकार के बजट में आदिवासियों और दलित समाज के लोगो के लिए कुछ भी नहीं

Nothing-for-the-people-of-the-tribals-and-the-Dalit-society-in-the-government's-budget
(Image credits: Moneycontrol)
बजट आने के बाद कई विपक्षी पार्टियों ने इसको लेकर अपनी अपनी प्रतिक्रिया देना शरू कर दिया है। इसी तरह कांग्रेस के महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने बजट को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है की यह बजट जनता के आँखों में धुल झोंकने जैसा है। साथ ही यह जनता को लिए निराशा करने वाला है।
मोदी सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण और युवाओं के जोश के बारे में बड़ी बड़ी बाते करती हैं।  वहीं इस बजट में पाटिल ने कहा की  युवाओं और महिलाओं के लिए बजट में कुछ भी नहीं है। वो कहते है हमने सोचा सरकार आयकर की मर्यादा कम से कम 8 लाख रुपये करेगी, परन्तु सरकार ने ऐसा नहीं किया। सरकार ने सिर्फ पांच लाख रुपए तक छूट दी है।
सरकार द्वारा लाये गये नोटबंदी और गलत नीतियों के कारण बैंकिग व्यवस्था पहले से ही पटरी से उत्तरी हुई है। और जो सरकार बैंकिंग अवस्था को सक्षम करने के लिए बजट में जो 4 सूत्री मार्ग लेकर आई है, देखा जाये तो उसका वास्तव में कोई उपयोग ही नहीं है।
सरकार ने मध्यवर्गीय लोगो को बजट में आयकर की छूट देने का दिखावा किया है। जिससे वास्त्व में तो कोई राहत नहीं मिलने वाली है। सरकार ने बजट में आदिवासियों और दलित समाज के लोगो के लिए भी कुछ नहीं किया है।
दूसरे के कामो का श्रेय लेना तो कोई मोदी सरकार से सीख़े। इसी प्रकार मोदी सरकार ने बजट में भी कुछ ऐसा ही किया है। सरकार ने बजट में गर्भवती महिलाओं को 26 सप्ताह तक वेतन सहित छुट्टी की घोषणा की है। परन्तु गर्भवती महिलाओं के इस योजना के लिए पहले से ही संसद की ओर से पारित कानून में प्रावधान किया गया है। बजट में इसका अलग से उल्ल्ख करके सरकार इसका श्रेय लेना चाहती है।
सरकार ने यह बजट आने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए पेश किया है। लेकिन सरकार को इससे कोई लाभ मिलने वाला नहीं है। युवाओ के रोजगार के लिए भी सरकार ने कुछ नहीं किया है।
मोदी सरकार कुछ भी कर ले, परन्तु 5 साल की अपनी विफलता को लोगो से छुपा नहीं सकती है। बीजेपी सरकार ने चुनाव के दौरान जनता से बड़ी बड़ी बाते की थी। परन्तु सरकार अपने किये गए वादे पर सफल नहीं हो पाई है। वहीं सरकार के इस बजट में भी लोगो को निराशा के सिवाय कुछ नहीं दिख रहा है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved