fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या कि धमकी, दिल्‍ली पुलिस कमिश्नर को आया एक संदिग्ध ईमेल

Narendra Modi
(Image Credits: Moneycontrol)

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर जान से मारने की धमकी मिली है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली के कमिश्नर को एक धमकी भरा मेल मिला है। इस मेल में बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की जा सकती है। यह मेल सिर्फ एक लाइन का है, बताया जा रहा है यह मेल देश के उत्तर पूर्व राज्य असम से भेजा गया है। इस मेल की मिलने से सुरक्षा एजेन्सिया सतर्क हो गई है।

Advertisement

दरअसल कई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह दावा किया जा रहा है कि, दिल्ली पुलिस कमिश्नर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मारने की बात मेल द्वारा की गई है। मेल में बताया गया है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या को आने वाले 2019 वर्ष में कभी भी अंजाम दिया जा सकता है। जब इसकी जांच की गई तो, पता चला की यह मेल भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम के किसी जिले से भेजा गया है।

सूत्रों से पता चला है कि इस मेल के मिलने के बाद सभी सुरक्षा एजेंसिया चौकन्नी हो गई है। दूसरी ओर इस मेल को भेजने वाले शख्स के बारें में जानकारी जुटाई जा रही है। बता दें कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले भी आतंकियों द्वारा नरेंद्र मोदी की हत्या करने की साजिश रची जा चुकी है।

हाल ही में भीम कोरेगाँव हिंसा में देश की विभिन्न जांच एजेंसियों ने पांच संदिग्धों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद ये खबर मिली थी कि नक्सली प्रधानमंत्री मोदी को मारने की साजिश रच रह हैं। बताया जाता है की इस मामले में गिरफ्तार किये गए रोना जैकब विल्सन के पास इस मामले से सम्बंधित चिट्ठी मिली है।

वैसे बता दें कि भारत के प्रधानमंत्री का चारों और उच्चस्तरीय सुरक्षा होती है। भारत के प्रधानमंत्री एसपीजी के सुरक्षा घेरे में रहते हैं। एसपीजी स्तर के सुरक्षा के घेरे में देश के बेहतरीन कमांडो तैनात किये जाते हैं। ये कमांडो प्रधानमंत्री को किसी तरह के भी खतरे से बचाने में सक्षम होते हैं, और ये अपने काम में माहिर होते हैं।


इसके आलावा एसपीजी के पास इस तरह के बेहतर उपकरण होते हैं। जिसकी सहायता से वो पलक झपकने की फुर्ती से प्रधानमंत्री तक किसी भी खतरे को पहुंचने से रोकने में सक्षम होते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved