fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

गाँधी जी के पुतले को गोली मारने वाली पूजा शकुन पांडेय को किया गया गिरफ्तार

Pooja-Shukun-Pandey-arrested-for-shooting-Gandhiji's-effigy
(Image Credits: India Alive)

हाल ही में गाँधी जी के पुतले को गोली मारने और उसका दहन करने वाली हिन्दू सभा की राष्ट्रिय सचिव पूजा शकुन पांडेय और उनके पति अशोक पांडेय कई दिनों से फरार थे। पुलिस ने काफी मशक्कत करने के बाद उन्हें मंगलवार को धर-दबोचा। सुचना के अनुसार दोनों दिल्ली से नोएडा आ रहे थे उसी समय पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार किया। उन्हें बुधवार यानी आज सुभह तक अलीगढ लाया जायेगा।

Advertisement

अदालत ने मंगलवार को ही उनको सरेंडर करने की तारीख रखी थी। मगर उनके एडवोकेट ने अदालत में सरेंडर के लिए समय मांग लिया, जिसके बाद उनको 8 फरवरी तक का और समय दिया गया । दूसरी और, समर्पण की खबर पर पुलिस अलर्ट थी और लगातार लोकेशन ट्रैस  कर रही थी। इसी बीच सटीक सूचना पर मंगलवार देर शाम दिल्ली से दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

पूजा पांडेय पर आरोप है की शौर्य दिवस पर 30 जनवरी को अखिल भारतीय हिंदू महासभा के बी दास कंपाउंड, नौरंगाबाद में मौजूद कार्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में पूजा पांडेय ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारी व उसे फूंका ।

इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने पूजा शकुन व अशोक पांडेय सहित 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था। इनमें से सात लोग अब तक गिरफ्तार हो चुके हैं। बाकी पूजा शकुन व अशोक पांडेय सहित चार की तलाश में पुलिस जुटी थी।

अपनी मुश्किलें बढ़ते देख दोनों ने कोर्ट में सरेंडर करने की याचिका दायर की थी जिस पर कोर्ट ने  मंगलवार यानी 5 फरवरी तक का नियमित समय दिया था।


सरेंडर की खबर पर पुलिस ने सुचना देने वालो की मदद से जाल बिछाया था। यहाँ  तक की पुलिस ने सर्विलांस की भी मदद ली। पुलिस सूत्रों के अनुसार लगातार उनकी लोकेशन अंबाला व चंडीगढ़ में मिल रही थी।

पक्की खबर मिलते ही पुलिस की टीम शाम को दिल्ली पहुंची और दिल्ली से नोएडा जाते समय दोनों को एक सफ़ेद वेगनआर में घेर लिया। दोनों ने पुलिस से बचकर निकलने की कोशिश की परन्तु दोनों को धर-दबोचा गया।

दोनों को अलीगढ लाया जाएगा और पूछताछ के बाद अदालत में पेश किया जायेगा। गाँधी पार्क के काण्ड के बाद दोनों फरार थे और दोनों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार इनकी तलाश में थी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved