fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

अयोध्या, मथुरा, काशी तो छोड़ो, दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ो- भाजपा सांसद साक्षी महाराज

Sakshi Maharaaj

उन्नाव से भाजपा सांसद रहे साक्षी महाराज का बड़ा बयान आया है जिसमे उन्होंने कहा है की अयोध्या, मथुरा, काशी तो छोड़ो, दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ो और वहां मूर्तियां न निकलें तो मुझे फांसी पर लटका। साक्षी महाराज ने दिल्ली की बरसो पुरानी मस्जिद को तोड़ने का आह्वान किया है।

Advertisement

उन्होंने यह भी दावा कर डाला है की उसकी सीढ़ियों से देवताओं की मूर्तियां निकलेंगी। उन्होंने कहा, ‘मैं जब राजनीति में आया था, तब मैंने कहा था कि काशी, मथुरा, अयोध्या छोड़ो, जामा मस्जिद तोड़ो। उसकी सीढ़ियों से अगर भगवान की मूर्तियां ना निकलें तो मुझे फांसी पर लटका देना।’

राम मंदिर को लेकर राजनैतिक मामला तेज़ होता नज़र आ रहा है। लोकसभा चुनाव नज़दीक है और जिसके कारण ही राजनीतिक बयानबाज़ी की जा रही है। शुक्रवार को उन्नाव में हुए एक कार्यक्रम में उन्होंने यह बात कही साक्षी महाराज ने यह भी कहा की ‘ मैं जब राजनीति में आया था, तब मैंने कहा था कि काशी, मथुरा, अयोध्या छोड़ो, जामा मस्जिद तोड़ो। उसकी सीढ़ियों से अगर भगवान की मूर्तियां ना निकलें तो मुझे फांसी पर लटका देना। मैं आज भी अपने इस बयान पर कायम हूं।’

साक्षी महाराज ने राम मंदिर का हवाला देते हुये कहा है की हम सौगंध राम की खाते हैं और मंदिर वहीं बनाएंगे, इसी बीच किसी ने कहा कि पर ‘तारीख नहीं बताएंगे’। और इसी बात पर साक्षी महाराज ने कहा की तारीख़ हम बताएँगे। वही संसद साक्षी महाराज ने राजनैतिक टिप्पणियाँ कसते हुए कॉंग्रेस और अन्य विपक्षी राजनैतिक दलों पर भी निशाना साधा उन्होंने कहा की हम कम से कम राम मंदिर की बात तो करते हैं, लेकिन क्या कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा सुप्रीमो मायावती और मुलायम पुत्र अखिलेश यादव बताएंगे कि वे अयोध्या में मंदिर के समर्थक हैं या फिर विरोधी?

इससे पहले भी साक्षी महाराज अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहे है। राम रहीम को रेप केस में सजा सुनाए जाने पर साक्षी महाराज ने कहा था कि कोर्ट करोड़ों भक्तों की बात नहीं सुन रहा है, सिर्फ एक शिकायतकर्ता की बात सुन रहा है। साक्षी महाराज ने राम रहीम का समर्थन करते हुए सीधे तौर पर कोर्ट के फैसले का विरोध किया था। साक्षी महाराज ने यह भी कहा कि कोर्ट ने सीधे-सादे राम रहीम को बुला लिया, नुकसान के लिए कोर्ट भी जिम्मेदार है।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved