fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

जांच के घेरे में NIA के तीन बड़े अफसर, आतंकवाद से जुड़े मामले में करोड़ो मांगने का आरोप

Three-top-NIA-officers-under-investigation,-accused-of-demanding-crores-in-terrorism-related-case
(image credits: livemint)

देश की महत्वपूर्ण जाँच एजेंसी माने जाने वाली NIA (नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी) के तीन बड़े कर्मचारी पर बड़ा आरोप सामने आया है। दरअसल टेरर फंडिग को लेकर NIA के तीन अफसर जांच के घेरे में आ गए हैं। इसमें एक एसपी स्तर के अधिकारी भी शामिल हैं।

Advertisement

दरअसल इन अफसरों पर आरोप है कि उन्होंने आतंकियों को पैसे देने के मामले में नाम नहीं शामिल करने के लिए दिल्ली के एक व्यापारी को ब्लैकमेल कर उसने 2 करोड़ रुपए लिए।

यहाँ आपका यह जानना जरुरी है की टेरर फंडिंग मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी (NIA) ने कई बड़ी शख्सियतों पर अब तक शिकंजा कसा है। लेकिन अब उनके ही अफसरों पर बड़े आरोप सामने आते दिख रहे है जो की चौकाने वाला लगता है।

इकोनॉमिक्स टाइम्स में छपी रिपोर्ट के अनुसार करीब एक महीने पहले जांच एजेंसी को एसपी और तीन अन्य जूनियर अफसरों के खिलाफ एक शिकायत मिली थी। उस वक्त यह तीनों अफसर पाकिस्तान आधारित कुख्यात आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा के चीफ हाफिज सईद द्वारा चलाए जा रहे एक फाउंडेशन Falah-i-Insaniyat Foundation (FIF) की जांच कर रहे थे।

हालाँकि NIA ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और साथ ही उन 3 अफसरों के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद जांच भी शुरू कर दी है। फ़िलहाल शुरुआती तौर पर इन तीनों अफसरों का NIA से ट्रांसफर कर दिया गया है। NIA में डीआईजी रैंक के अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं। जांच पूरी होने के बाद ही इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।


आपको बता दें कि NIA के जिस एसपी पर इस मामले में पैसे उगाही करने के गंभीर आरोप लगे हैं वो इससे पहले साल 2007 में हुई महत्वपूर्ण घटना के केस में मुख्य जांच अधिकारी भी रह चुके हैं। जांच एजेंसी की एक टीम ने एक शख्स से इस मामले में शुरुआती पूछताछ भी की है। माना जा रहा है कि यह शख्स भी उगाही के इस रैकेट में शामिल था।

बता दें कि इन अफसरों का NIA से ट्रांसफर कर दिए जाने का यह बिलुकल भी मतलब नहीं है कि इन तीनों अफसरों की संलिप्ता इस मामले में है। फ़िलहाल अभी इस पूरे मामले की जांच चल रही है और जांच पूरी होने के बाद ही इसको लेकर कुछ कहा जा सकता है। वहीँ इस मामले में बिजनेसमैन, एसपी और अन्य पुलिस अफसरों के नाम गुप्त रखे गए हैं ताकि किसी तरह से जांच को प्रभावित ना किया जा सके।

NIA अफसरों पर लगे यह आरोप देश के महत्वपूर्ण जांच एजेंसी के काम करने के तरीके पर बड़ा सवाल उठाता है। अब देखना यह है की अगर इन अफसरों पर लगे आरोप सही शाबित हो जाते हैं तो यह बहुत निंदनीय होगा। इसके साथ ही भविष्य में NIA द्वारा की गई कोई भी जांच पर लोगो द्वारा भरोसा करना आसान नहीं हो सकेगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved