fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

गुजरात: आंबेडकर जयंती के लिए लगाए गए बाबा साहेब की चित्र वाले नीले झंडे को नगर पालिका द्वारा हटाया गया

Gujarat:-Blue-flag-depicting-Baba-Saheb-fitted-for-Ambedkar-Jayanti-was-removed-by-municipality
(Image Credits: NSP Mart)

पुरे देश में डॉ. बाबा साहब आंबेडकर की 128वीं जयंती मनाने की तैयारी चल रही है 14 अप्रैल को पुरे भारत देश में सविधान निर्माता बाबा साहेब की जयंती मनाई जाती है और बहुजन समाज के द्वारा इसकी तैयारी शुरू की जा चुकी है वही बाबा साहेब की जयंती की तैयारी के तहत गुजरात के नवसारी में कई स्थानों पर नीले रंग के झंडे लगाए गए थे। जिसे नगर पालिका द्वारा हटा दिया गया नीले झंडो को हटाए जाने के कारण दलित समाज के लोग काफी नाखुश दिखे और दलित समाज के लोगों ने शुक्रवार दोपहर को जमकर हंगामा किया।

Advertisement

जानकारी के अनुसार आंबेडकर जयंती के उपलक्ष में लुन्सीकुई मैदान के पास डॉ. आंबेडकर प्रतिमा के आसपास व शहर के अन्य स्थानों पर नीले रंग की झंडियां लगाई गई थी। इसमें बाबा साहब का चित्र और अशोक चक्र का निशान समेत जय भीम लिखा था। शुक्रवार को इन झंडियों को नगर पालिका के द्वारा हटा दिया गया था। झंडियों के हटाए जाने के कारण बड़ी संख्या में लोग नगर पालिका पहुंच गए और सीओ दशरथ सिंह गोहिल से झंडी हटाने वालों पर कार्रवाई की मांग की।

बाबा साहेब की फोटो वाली नीली झंडियों को हटाने के कारण बहुजन समाज के लोग इसका पुरजोर विरोध कर रहे है उन्होंने इस दौरान नारेबाजी करते हुए रास्तो पर उतारकर विरोध जाहिर किया । सूचना पाकर सिटी पीआई भी दल बल के साथ पहुंच गए। बाद में किसी तरह लोग शांत हुए। बहुजन समाज के लोगो के विरोध प्रदर्शन के बाद झंडी निकालने वालों के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई गई।

बाद में समाज के अग्रणियों ने बताया कि निकाले गए झंडे फिर से लगा दिए गए। लेकिन बाबा साहब के चित्र वाले झंडे नहीं लगने पर रोष देखा गया। समाज के अग्रणी परेश वाटवेचा ने बताया कि झंडे निकालकर बाबा साहब का अपमान किया गया है और उसके लिए जिम्मेदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

बाबा साहब की जयंती के उपलक्ष में सेवाभावी संस्थाओं द्वारा नपा विस्तार में लगाए गए झंडे हटाने से नाराज लोग नगर पालिका पर प्रदर्शन करने आए थे। नगर पालिका सीओ ने भी कार्रवाई का आश्वासन दिया है। दलित समाज के अग्रणियों को समझा कर विरोध प्रदर्शन समाप्त करवाया।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved