fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

बुलंदशहर हिंसा: पकड़ा गया इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का हत्यारा, कबूला अपना जुर्म

Bulandshahr-Violence:-Inspector-Subodh-Kumar-Singh'-s-murder-caught,-Confessed-his-crime
(Image Credits: India.com)

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या करने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया। हत्यारे की पहचान बुलंदशहर निवासी प्रशांत नट के रूप में हुई। बुलंदशहर एसएसपी चौधरी ने नट की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। उसे आज शुक्रवार को कोर्ट में लाया जाएगा। इसके अलावा रिवाल्वर चुराने वाले जॉनी की भी पहचान कर ली गई है और उसकी तलाश जारी है।

Advertisement

पुलिस के सूत्रों के अनुसार, जॉनी ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की रिवॉल्वर चोरी करी थी। जबकि प्रशांत नट ने उन्हें गोली मारी थी। इस मामले में पुलिस को दो वीडियो मिले थे, जिनमें ये दोनों एक साथ नजर आए। ऐसे में जॉनी और प्रशांत नट को इंस्पेक्टर की हत्या का मुख्य आरोपी बनाया गया है। इसके साथ योगेश राज को हिंसा भड़काने का मुख्य आरोपी बनाया गया है।

3 दिसंबर को हुई थी हिंसा:

बुलंदशहर में 3 दिसंबर को कथित गौकशी के बाद हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी। वहीं, भीड़ में शामिल एक युवक के भी मृत्यु हो गई थी। इस संबंध में पुलिस ने सबसे प्रथम जीतू फौजी को गिरफ्तार किया था, जो घटना के दिन पुलिस चौकी के सामने मौजूद था। उत्तर प्रदेश एसटीएफ के एसएसपी का कहना है कि आरोपी जवान जीतू ने बुलंदशहर हिंसा के दौरान उपद्रवियों को भीड़ में शामिल होने की बात कबूली थी।

योगी ने बुलंदशहर हिंसा को बताया था राजनीतिक साजिश


उत्तर प्रदेश  मुख़्यमंत्री ने बुलंदशहर हिंसाको सरकार के खिलाफ राजनीतिक साजिश करार दिया था। उन्होनें कहा कि सरकार इस साजिश को बेनकाब करने में कामयाब रही। वहीं इस हिंसा में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के घरवालों ने आरोप लगाया की इस घटना के सबूत मिटाए जा रहें है। सुबोध कुमार की पत्नी और बेटे का आरोप है कि इंस्पेक्टर का कातिल खुलेआम घूम रहा है, क्योंकि उस व्यक्ति को राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है।

बचाव में चलाई गई गोली लग गई सुमित को

एसएसपी प्रभाकर चौधरी के मुताबिक, इंस्पेक्टर ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी, जिसके कारण सुमित नाम के युवक की मृत्यु हुई। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, वीडियो फुटेज और कुछ लोगों की गवाही के आधार पर इंस्पेक्टर की हत्या में नट को संदिग्ध पाया गया। बता दें की इस मामले में बुलंदशहर पुलिस अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, छह से ज्यादा लोगों ने अदालत में आत्मसमर्पण किया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved