fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

नरेंद्र मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी को पुलिस एस्कॉर्ट नहीं दी गई तो हुए नाराज, बैठ गए धरने पर

Narendra-Modi's-brother-Prahlad-Modi-was-not-given-a-police-escort,-so-he-sits-on-strike
(Image Credits: Patrika)

देखा जाए तो बीजेपी सरकार में अधिकतर ऐसे नेता है जो अपने बुरे व्यवहार के लिए सुर्ख़ियों में रहता है। इन्ही सब। बातो को ध्यान में रखते हुए बीजेपी में एक नया नाम सामने आ गया है। यह कोई और नहीं जबकि देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी है। प्रह्लाद मोदी भी नरेंद्र मोदी की तरह अकड़ू और घमंडी निकले। उन्होंने एक छोटी मांग को लेकर घंटो तमाशा किया।

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी मंगलवार (14 मई) को करीब 4 घंटे तक पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठे रहे। बताया जा रहा है कि यह मामला जयपुर का है। प्रहलाद मोदी सड़क मार्ग से अहमदाबाद से हरिद्वार जा रहे थे। अजमेर से जयपुर की ओर जाते वक्त उन्हें पुलिस एस्कॉर्ट नहीं दी गई तो वह नाराज हो गए। करीब 4 घंटे बाद उन्हें पुलिस एस्कॉर्ट मिली, जिसके बाद वह गंतव्य के लिए रवाना हुए।

पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी अहमदाबाद से हरिद्वार जा रहे थे। अजमेर से जयपुर जाते वक्त उन्होंने पुलिस एस्कॉर्ट की मांग की, जिसके लिए इनकार कर दिया गया। इतनी बात को लेकर प्रह्लाद नाराज हो गए और जयपुर-अजमेर हाइवे स्थित बगरू पुलिस थाने के सामने धरने पर बैठ गए। करीब 4 घंटे बाद यह मामला सुलझा। देखा जाए तो प्रह्लाद को जितनी सिक्योरिटी मिलनी चाहिए थी उतनी उन्हें दी गयी परन्तु प्रह्लाद ने अलग से पुलिस एस्कॉर्ट की मांग की जिसे नकार दिया गया।

जयपुर के पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव के मुताबिक, पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी सड़क मार्ग से जयपुर आ रहे थे। वह अहमदाबाद से हरिद्वार के लिए निकले थे। उन्होंने पुलिस एस्कॉर्ट की मांग की थी, लेकिन वह उसके काबिल नहीं हैं।

पुलिस कमिश्नर ने बताया की , हमारे पास प्रह्लाद मोदी को 2 पीएसओ उपलब्ध कराने का आदेश था, जो बगरू थाने में पहले से मौजूद थे। इन पुलिसकर्मियों को प्रह्लाद मोदी के साथ जाना था, लेकिन वह उन्हें अपनी गाड़ी में ले जाने के लिए तैयार नहीं हुए। प्रह्लाद अलग पुलिस वाहन की मांग कर रहे थे।


बताया जा रहा है कि मामला हाईप्रोफाइल होने की वजह से अफसरों के निर्देश पर प्रह्लाद मोदी को एस्कॉर्ट मुहैया करा दी गई। हालांकि, यह पूरा मामला करीब 4 घंटे तक चलता रहा और प्रह्लाद मोदी रात करीब 9 बजे हरिद्वार के लिए रवाना हुए।

देखा जाए तो यहाँ प्रह्लाद मोदी ने यहाँ अपने भाई के प्रधानमंत्री होने का खूब फायदा उठाया है। आखिर नरेंद्र मोदी के भाई का असली चेहरा सामने नजर आ रहा है की किस प्रकार वह नरेंद्र मोदी की पावर का प्रयोग करके कोई भी काम करवा सकते है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved