fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

पीएम मोदी अपने जन्मदिन पर देश को देंगे महंगाई का बड़ा तोहफा, जानिये क्यों बढ़ेगी महंगाई

PM-Modi-will-give-the-country-a-big-gift-of-inflation-on-his-birthday,-know-why-inflation-will-increase
(image credits: hindustan times)

देश में मंदी जारी है और साथ ही महंगाई पर भी अब असर पड़ रहा है। मंदी से निपटने के बीजेपी के सारे तरीके नाकाम साबित हो रहे है यही नहीं सरकार अपनी गलतियों को भी छुपा रही है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 17 सितम्बर को जन्मदिन है। इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री जनता को महँगाई का तोहफा देने में लगे है।

Advertisement

महंगाई काम होने का नाम नहीं ले रही। पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि का सिलसिला शनिवार को लगातार तीसरे दिन जारी रहा। देश के चार प्रमुख महानगरों, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल फिर आठ पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है। वहीं, डीजल के दाम दिल्ली और कोलकाता में नौ पैसे जबकि मुंबई और चेन्नई में 10 पैसे प्रति लीटर बढ़ गए हैं। इस सप्ताह अब तक चार बार पेट्रोल और डीजल के भाव में बढ़ोतरी की गई है, जिससे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में सप्ताह के दौरान पेट्रोल 26 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है और डीजल के दाम में 28 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि हुई है।

इंडियन ऑयल की बेवसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 71.97 रुपये, 74.70 रुपये, 77.65 रुपये और 74.78 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। चारों महानगरों में डीजल के दाम भी बढ़कर क्रमश: 65.37 रुपये, 67.78 रुपये, 68.56 रुपये और 69.09 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं।

उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इस सप्ताह कच्चे तेल के भाव में नरमी का रुख बना रहा। ऊर्जा विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले 15 दिनों के दौरान कच्चे तेल के दाम में तकरीबन स्थिरता बनी रही है, जिसके बाद आगे अब पेट्रोल और डीजल के दाम में ज्यादा बढ़ोतरी की संभावना नहीं है।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज यानी आईसीई पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का नवंबर डिलीवरी अनुबंध शुक्रवार को 0.45 फीसदी की गिरावट के साथ 60.11 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। वहीं, न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज यानी नायमैक्स पर अमेरिकी लाइट क्रूड डब्ल्यूटीआई का अक्टूबर डिलीवरी अनुबंध में 0.38 फीसदी की कमजोरी के साथ 54.84 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। पिछले चार दिनों से जारी नरमी के कारण ब्रेंट क्रूड का भाव पिछले सप्ताह के मुकाबले करीब डेढ़ डॉलर प्रति बैरल गिरा है।


एक तरफ बीजेपी सरकार के फैसलों ने देश को मंदी में डुबो दिया वही अब मंगाई पर भी लगाम नहीं लगा रहे। अपनी गलतयों को छुपाने और नाकाम कोशिश करने के सिवा बीजेपी और कुछ नहीं कर रही। जहाँ पीएम मोदी के जन्मदिन की तैयारी हो रही है तो वही देश में लोगो की परेशानियां बढ़ाने का काम भी हो रहा है। 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved