fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

दलित से मारपीट व जातीय अपमान के मामले में पुलिस ने एक महीने तक दर्ज नहीं किया कोई केस, एसपी से करी शिकायत

police-did-not-registered-complain-in-the-case-of-rioting-and-racial-abuse-with-dalit-complaint-to-sp
(Representational Image) (Image Credits: The Wire)

दबंगों द्वारा दलित किसानो के साथ मारपीट व जातीय अपमान के अपराध में रिठौरा थाना पुलिस ने 26 दिसंबर की घटना को एक महीने हो चुके है। पुलिस ने महीने बाद भी नामजद आरोपियों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज नहीं किया है। पीडि़त पक्ष ने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक से की है। एसपी ने शिकायत की जांच के लिए रिपोर्ट एसडीओपी को भेज दिया है।

Advertisement

पढ़ावली के रहने वाले कोकसिंह पुत्र जगन्नाथ सिंह जाटव ने अपनी शिकायत में यह कहा है कि उनके गांव के दबंग पप्पू उर्फ श्यामसुंदर, रामबिलास पुत्र किशनलाल, अन्नू, कान्हा ने जबरन सर्वे नंबर 14 के खेत को जोत दिया। इस पर पीड़िता ने अपनी शिकायत दर्ज कराई तो आरोपियों ने शिकायतकर्ता के घर पहुंचकर मारपीट कर जातीय अपमान किया।

इस मामले में रिठौराकलां थाने में शिकायत दर्ज करने के एक महीने तक पुलिस ने नामजद आरोपियों के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज नहीं किया है। फिर इस मामले की शिकायत एक जनवरी को पुलिस अधीक्षक की उन्होंने शिकायत को जांच के लिए रिठौरा थाने भेज दिया। थाने के एएसआई राजेन्द्र विमल ने पीड़िता की शिकायत सुनी और उन बयानों को बुलाया परन्तु उल्टा वह पीड़िता से पैसे की मांग करने लगे  । पैसे न देने पर उन्होंने पीडित को ही बाउंड ओवर कराने की धमकी दी है।

इस संबंध में एएसआई विमल का कहना है कि शिकायतकर्ता ने अपना खेत जाेतने के लिए पप्पू उर्फ श्यामसुंदर को बटाई पर दिया था। दो साल तक खेत में बटाई पर फसल कराने के बाद तीसरी साल शिकायतकर्ता ने खुद बोवनी कर दी। इसे लेकर दोनों पक्षों में विवाद चल रहा है। विवाद को लेकर शिकायतकर्ता कोकसिंह दूसरे पक्ष के पांच-छह लोगों पर एट्रोसिटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराना चाहता है।

 


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved