fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

पंजाब: सरपंच ने दलित परिवार को पीटा, बसपा प्रदेशाध्यक्ष ने हरसंभव मदद का दिया भरोसा

punjab:-Sarpanch-has-beaten-to-Dalit-family,-BSP-state-president-assured-to-any-possible-help
(Image Credits: eesanje)

पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में पंचायती चुनाव के दौरान गांव डेरा मीरा में नए साल की सुबह कांग्रेस के जीते हुए सरपंच और अनुसूचित जाति के परिवार के बीच मारपीट का मामला सामने आया है। अब इस मामले को सियासी रंगत मिलनी शुरू हो चली है। अस्पताल में अनसूचजित जाति के परिवार के पांच लोग उपचाराधीन हैं जबकि विरोधी पक्ष के सरपंच समेत तीन लोग भी इसी अस्पताल में दाखिल है।

Advertisement

बसपा के प्रदेशाध्य्क्ष रछपाल सिंह राजू व पंजाब इंचार्ज शिव कुमार कल्याण पीड़ित परिवार का हाल जानने के लिए सिविल अस्पताल पहुंचे जहां पीड़ित परिवार की पीड़ित महिला गुरमेल कौर कुलदीप सिंह, सुरजीत सिंह, गुरजीत कौर और लखवीर सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरपंच हरिंदर पाल सिंह ने 10-15 साथियों सहित उनके घर में दाखिल होकर परिवार के सभी सदस्यों को पीटा।

इस मामले में पुलिस ने क्रास पर्चा दर्जा करके विरोधी पक्ष का बचाव किया है। बसपा प्रधान रछपाल सिंह राजू ने सभी पीड़ितों के पास जाकर उनको इंसाफ दिलाने का भरोसा दिया। राजू ने कहा कि वह स्थानीय पुलिस प्रशासन और पंजाब के डीजीपी से आरोपी सरपंच पर धारा 307,452 के तहत मामला दर्ज करने की मांग की।

हम प्रशासन को एक दिन का समय देते हैं यदि इस बीच धारा में इजाफा न हुआ तो वह रोड जाम करेंगे और पीड़ित परिवार को हरसंभव सहायता भी प्रदान करेंगे। मौजूदा सरपंच हरिंदर पाल सिंह ने बताया कि विरोधी पक्ष उन पर झूठे आरोप लगा रहा है। उन्होनें कहा कि लोगों ने हारने के बाद फोन पर उन्हें बुलाकर देख लेने की धमकी दी और भद्दी शब्दावली का प्रयोग किया और गाली दी।

मैंने इसकी शिकायत फ़तेहगढ साहिब थाना में की है। विरोधो पक्ष का थाने में भी फोन आया था और झगड़े के लिए उसे उकसाया गया। सरपंच ने कहा कि वह लोग मुझे मरना चाहते थे, जब वह अन्य लोगो के साथ विरोधी पक्ष को शांत करने के लिए घर पहुंचे तो वहां 5-6 लोगों ने उनके ऊपर हमला कर दिया और बीच बचाव में विरोधी पक्ष और हमारे 3 लोगों को भी चोटें पहुंचीं।


(News Source: Amar Ujala)

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved