fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

रामलला के वकील ने पेश किया सवाल खड़े करने वाला रिपोर्ट, क्या मंदिर तोड़ कर बनाया गया मस्जिद ?

Ramlala's-lawyer-presented-a-question-raising-report,-was-the-mosque-built-by-demolishing-the-temple?
(image credits: firstspot hindi)

अयोध्या मामले को जल्द से जल्द निपटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट रोजाना सुनवाई कर रही है। ऐसे में दोनों ही पक्ष अपनी दलीले पेश कर कई और सवाल खड़े कर रहें हैं। यहाँ तक की कोर्ट ने भी ऐसे सवाल खड़े किये जिनका जवाब देना मुश्किल था। दोनों ही पक्ष अपनी दलीले रख यह साबित करने की कोशिश में ही की वहां पहले से ही मंदिर या मस्जिद था।

Advertisement

राम जन्मभूमि मामले में रामलला के वकील ने एक नई रिपोर्ट पेश कर कई और सवाल खड़े कर दिए है। सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद की आठवें दिन की सुनवाई के दौरान रामलला विराजमान के वकील ने मंगलवार को भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग यानि एएसआई की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि अयोध्या में मस्जिद का निर्माण करने के लिए हिंदू मंदिर गिराया गया।

वरिष्ठ अधिवक्ता सी.एस वैद्यनाथन ने अदालत में कहा कि एएसआई की रिपोर्ट में मगरमच्छ और कछुए की आकृतियों का जिक्र है, जिसका मुस्लिम संस्कृति से कोई लेना-देना नहीं है।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के नेतृत्व वाली, पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ के समक्ष उन्होंने एएसआई की रिपोर्ट से अन्य पुरातात्विक साक्ष्यों का हवाला देते हुए विवादित क्षेत्र में हिन्दू मंदिर होने के दावों को पुख्ता करने की कोशिश की। मामले की सुनवाई अभी चल रही है।

बता दें कि प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के अलावा पीठ में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर भी हैं।


राम जन्मभूमि को लेकर सुप्रीम कोर्ट रोजाना सुनवाई कर रहा है परन्तु किसी नतीजे पर पहुंचना कोर्ट के लिए भी एक बड़ी समस्या है। नए नए तथ्य पेश किये जा रहे है। कही राम के वंशज है तो कहीं मंदिर होने का साबुत। कई दलीले और सबुत, राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को और भी ज्यादा उलझाता जा रहे है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved