fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

अमित शाह के हिंदी वाले बयान पर बीजेपी में बगावत, येदियुरप्पा ने भी कही बड़ी बात

Rebellion-in-BJP-on-Amit-Shah's-Hindi-statement,-Yeddyurappa-also-said-big-thing
9image credits: the straits times)

ऐसा लगता है बीजेपी में अब अपने ही लोग एक दूसरे से दूरी बना रहे है। अचानक दिए बयानों पर बीजेपी के लोग एक दूसरे से सहमत नजर नहीं आ रहे। खासतौर पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की कही बातो का अगर पार्टी ही विरोध करे तो क्या कहने।

Advertisement

जी हाँ हिंदी दिवस पर अमित शाह द्वारा दिए गए भाषण के चलते बीजेपी के ही कई लोग उनकी बातो से ना खुश नजर आ रहे है। दरससल अमित शाह ने कहा था की पुरे देश में एक ही भाषा होनी चाहिए और  सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा हिंदी है। इस बयान को लेकर बीजेपी के कई लोग खासा नाराज है।

यही नहीं हिंदी को लेकर गृहमंत्री अमित शाह के बयान पर गैर हिंदी भाषी प्रदेशों में राजनीतिक संग्राम शुरू हो गया है। यहाँ तक की विपक्षी पार्टियों ने केंद्र सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं। यही नहीं गैर हिंदी भाषी प्रदेशों में बीजेपी भी अमित शाह के बयान से सहमत नहीं है।

दूसरी और अमित शाह के हिंदी भाषा वाले बयान का जवाब देते हुए आज कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि राज्य में कन्नड़ से कोई समझौता नहीं करेंगे।

मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा, ”हमारे देश में सभी आधिकारिक भाषाएं समान हैं। हालांकि, जहां तक कर्नाटक का सवाल है, कन्नड़ प्रमुख भाषा है। हम कभी भी इसके महत्व से समझौता नहीं करेंगे और हम कन्नड़ और राज्य की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”


 देखा जाए तो अमित शाह अपने बयान में साफ़ तौर पर हिंदी और हिंदुत्व का प्रचार कर रहे थे। सभी भाषा को सामान रूप से न देख कर हिंदी भाषा को बढ़ावा दे रहे है।

दरअसल, शाह ने हिंदी दिवस के अवसर पर ट्वीट किया था “पूरे देश की एक भाषा होना अत्यंत आवश्यक है, जो विश्व में भारत की पहचान बने। “भारत विभिन्न भाषाओं का देश है और हर भाषा का अपना महत्व है। मगर पूरे देश की एक भाषा होना अत्यंत आवश्यक है, जो विश्व में भारत की पहचान बने। आज देश को एकता की डोर में बांधने का काम अगर कोई एक भाषा कर सकती है, तो वह सर्वाधिक बोली जाने वाली हिंदी भाषा ही है।”

अमित शाह का यह बयान अब उनके लिए मुसीबत का पहाड़ बनता जा रहा है। उनके अपने ही पार्टी के लोग उनके विरोध में नजर आ रहे है। 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved