fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

उत्तर प्रदेश गाजीपुर: आंबेडकर की प्रतिमा को फिर किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए लोगों ने जाम कर दिया एन एच

UP-Gazipur:-Ambedkar's-statue-was-damaged,-angry-jammed-NH-Highway
(Image Credits: Jagran)

लोकसभा के चुनाव आने ही वाले हैं। इसके साथ बाबा साहेब भीमराव आम्बेडकर की प्रतिमा को लगातार समाज के कुछ अराजक तत्वों द्वारा नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। इस संदर्भ में जौनपुर में हुआ विवाद अभी शांत भी नहीं हुआ था कि गाजीपुर में भीमराव आम्बेडकर की प्रतिमा को नुक्सान पहुंचा दिया गया।

Advertisement

अराजक तत्वों ने प्रतिमा के साथ ही पास में लगे सोलर लाइट को भी नुक्सान पहुंचाया। इससे नाराज होकर बसपा कार्यकर्ताओं ने अगली ही सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया। हलाकिं प्रशासन के कहने पर बसपा कार्यकर्ता समझ गए और उसके बाद जाम समाप्त हो गया।

दरअसल यह मामला जमनिया थानाक्षेत्र के देवरिया गांव का है। जहां एनएच 97(24 ) के पास चट्टी पर बाबा साहब डॉ भीमराव आम्बेडकर की प्रतिमा लगी है। किसी अराजकतत्व ने आम्बेडकर के प्रतिमा की अंगुली तोड़ दी और उसपर पान की पीक डाल दिया। इतना ही नहीं पास में लगी सोलर लाइट को भी नुकसान पहुँचाया।

बृहस्पतिवार सुबह जब गावंवालों ने प्रतिमा को क्षतिग्रस्त देखा तो उनका गुस्सा भड़क गया और देखते ही देखते मौके पर काफी भीड़ इकट्ठी हो गई। बसपा के जिला सचिव धनन्जय मौर्य ने चेताया कि अगर 24 घंटो के अंदर प्रतिमा को दुरुस्त करके शरारती तत्वों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा।

जाम की सूचना मिलने पर एसडीएम विजय कुमार और कोतवाल हेमंत कुमार सिंह घटना स्थल पर पहुँचे। एसडीएम विजय कुमार ने गांववालों की मांग पर शरारती तत्वों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराये जाने और आम्बेडकर की दूसरी प्रतिमा लगवाने का निर्देश दिया।


उपजिलाधिकारी के आश्वासन के बाद गांववाले मान गए और जाम को समाप्त किया। दरअसल आम्बेडकर की प्रतिमा और सोलर लाइट कुछ  महीने पहले ही एमएलसी कोटे से गांव में लगवाई गई थी।

बता दें की आम्बेडकर की प्रतिमा को क्षति पहुंचाने की घटना देश भर से आये दिन सुनी जाती है। अभी हाल ही में लगभग 15 दिनों पहले यूपी से ही आम्बेडकर की प्रतिमा को क्षति पहुंचाने की खबर आयी थी और इससे पहले जौनपुर में प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया था। समाज के कुछ अराजक तत्वों द्वारा इन घटनाओं को अंजाम दिया जाता है। ऐसी घटनाओ का बार बार होना प्रशासन की अराजक तत्वों के प्रति दिखाई गई ढील को दर्शाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved