fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

क्यों प्रेस कॉन्फ्रेन्स से डरते है मोदी सच्चाई आ गई सामने

Why-Modi-afraid-of-the-press-conference-truth-comes-in-front
(Image Credits: WeForNews)

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में एक टीवी चैनल को इंटरव्यू दिया और मोदी का यह इंटरव्यू अब विवादों में घिर गया है इस इंटरव्यू में कैमरामैन ने मोदी की सच्चाई जनता के सामने कुछ सेकंड में ही सामने रख दी है। पहले तो इस इंटरव्यू में बालाकोट एयरस्ट्राइक और डिजिटल कैमरे के 80 के दशक में इस्तेमाल से जुड़े पीएम के कुछ दावों को लेकर उनकी आलोचना हो रही थी।

Advertisement

जहा हमारे प्रधानमंत्री ने पहले रडार से बचने के किये बादलो का सहारा लिया था फिर वही पीएम मोदी ने यह दावा कर दिया था की उन्होंने 80 के दशक में ही ईमेल और डिजिटल कैमरे का प्रयोग कर लिया था।

मोदी ने इंटरव्यू में यह भी दावा किया की उन्होंने एक सभा के दौरान आडवाणी जी की फोटो खींच कर उससे दिल्ली ईमेल के जरिये ट्रांसमिट किया, जबकि किसी भी ईमेल के साथ पहला अटैचमेंट मार्च 1992 में भेजा गया था. ये अटैचमेंट एक तस्वीर थी. भेजने वाले का नाम नथानियल बोरेंस्टाइन था जबकि बकौल मोदी वो 87-88 में फोटो अटैचमेंट भेज चुके थे. इस लिहाज़ से प्रधानमंत्री ने भी ईमेल होने की बात ग़लत बताई. 1987-88 में ईमेल से कैसे भेज दिया जबकि ईमेल आया ही 1992 में था।

दूसरी और मोदी एक और विवाद में घिर गए है आपको बता दे की इंटरव्यू की के दौरान यह साफ़ देखने को मिला की मोदी के इस इंटरव्यू की स्क्रिप्ट पहले से तय थी । कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड दिव्य स्पंदना ने इंटरव्यू के वीडियो का एक हिस्सा ट्वीट किया है।

क्लिप के जरिए आरोप लगाया गया है कि मोदी ने पहले से तय सवालों के जवाब दिए। बता दें कि मोदी ने यह इंटरव्यू न्यूज नेशन चैनल को दिया था। क्लिप में दिखता है कि मोदी कुछ पेपर अपने हाथ में लिए हुए हैं। इनमें से एक में हिंदी में कविता छपी है और साथ ही में ‘सवाल संख्या 27’ भी दर्ज है। पेपर पर जो सवाल लिखा हुआ नजर आता है, इंटरव्यू पूछने वाले पत्रकार ने भी पीएम से वही सवाल किया था।


दिव्य स्पंदना ने वीडियो क्लिप ट्वीट करते हुए आरोप लगाया कि पीएम नरेंद्र मोदी का न्यूज नेशन को दिया गया इंटरव्यू स्क्रिप्टेड था। उन्होंने लोगों से कहा कि वे वीडियो को तीसरे सेकंड पर पॉज करके देखें कि कागज पर सवाल और उसका जवाब भी लिखा है।

कांग्रेस सोशल मीडिया हेड ने तंज कसते हुए लिखा, ”अब हमें पता है कि आखिर क्यों मोदी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करते या कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ डिबेट नहीं करते।”

वीडियो में नजर आता है कि पत्रकार पीएम मोदी से सवाल पूछता है कि क्या आपने पिछले 5 साल में कुछ लिखा है? इसके जवाब में पीएम बताते हैं कि वह कभी कभार लिख लेते हैं। जब पीएम कागज के पन्ने पलटते नजर आते हैं तो उसमें टाइप की हुई कविता नजर आती है। साथ ही कविता के ठीक ऊपर वो सवाल लिखा हुआ भी नजर आता है, जो पत्रकार पीएम से पूछता है।

वहीं, फर्जी और संदिग्ध खबरों की पड़ताल करने वाली वेबसाइट ऑल्ट न्यूज ने भी इस वीडियो की समीक्षा की है। ऑल्ट न्यूज ने पुष्टि की है कि वीडियो में पीएम के पास वो कागजात हैं, जिनपर कविता और सवाल नजर आता है।

बता दें कि बाद में ये वीडियोज सोशल मीडिया पर वायरल हो गए और यूजर्स इनको लेकर तीखी बहस में जुट गए। बहुत सारे सोशल मीडिया यूजर्स ने इस इंटरव्यू के बहाने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। हालांकि, अभी तक बीजेपी या चैनल की ओर से इस मामले पर सफाई नहीं आई है।

प्रधानमंत्री मोदी जनता के सवालो से हमेशा बचते आये है और वह गोदी और बिकाऊ मीडिया को ही इंटरव्यू देते है ताकि उनकी नाकामयाबियों पर कोई सवाल ना उठा सके।

जहा प्रधानमंत्री मोदी यह बयान देते है की जहा ख़राब मौसम में बादलों में छिपे जहाज़ को रडार नहीं पकड़ पाता, वही वाले रडार को पकड़कर पूछना चाहिए कि साफ आसमान के बाद भी अनूसूचित जाति के दूल्हे की बारात जब रोकी जाती है तब क्यों नहीं पकड़ आता। क्यों प्रधानमंत्री के गढ़ में आसमान साफ़ होने के बावजूद भी एक हफ्ते में चार दलितों की बारात को रोकने की शर्मसार करने वाली घटनाये सामने आ रही है। क्यों सवर्ण सवर्ण समाज के लोगो की इतनी हिम्मत बढ़ गई है की उनके समाज की औरते एक दलित की बारात रोकने के लिए रोड पर बैठ कर भजन कर रही है।

क्यों लगातार इस इस देश के सबसे बड़े बहुजन समाज को कुछ चुनिंदा लोग अपनी मुट्ठी में करना चाह रहे है, क्यों उन औरतो पर करवाई नहीं की गई जिन्होंने दलित समाज के उस युवक को अपमानित किया की उसकी जाती के कारण वह घोड़ी नहीं चढ़ पा रहा है।

भारत के प्रधानमंत्री को इन बातो पर पहले ध्यान देने की जरुरत है उनसे इस चीज़ पर सवाल करने की जरुरत है। पीएम मोदी यह भली भाति जानते है की वह इन सभी बातो का जवान नहीं दे पाएंगे क्यूंकि वह तो हाथ में कागज़ पकड़ पर इंटरव्यू देते है जिसमे पहले से जवाब लिखे होते है और इस सवाल का जवाब उन्होंने कोई लिख कर नहीं दे सकेगा इसलिए वह इसपर जवाब नहीं देंगे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved