fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  

मीडिया की स्वतंत्रता पर वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश उर्मिल की दर्द भरी टिप्पणी

विमर्श
2 years ago

तब और अब: सन् 1986 से पत्रकारिता में हूं। वैसे स्वतंत्र रूप से अखबारी लेखन की शुरुआत सन् 1983 में हो गई थी। शायद ही कभी किसी सत्ता की भजनमंडली में शामिल हुआ। दिल्ली, बिहार, यूपी, पंजाब और जम्मू कश्मीर की तमाम आई-गई सरकारों को जब कभी कुछ गलत या जनविरोधी करते देखा या पाया, हमेशा उनके ऐसे कदमों की […]

इंसाफ की तिजोरी का ऊंची जातियों की तरफ झुकाव

विमर्श
2 years ago

कुछ लोग कहते हैं कि इंसाफ की तिजोरी तथ्य, परिस्थिति और कानून पर अपनी कड़ी नजर रखती है, किसी व्यक्ति विशेष की ओर नहीं। लेकिन अगर भारतीय न्यायपालिका का रवैया देखा जाए तो यह बात केवल लेख, लेखनी और किताबों में लिखे जाने या फिर कुछ न्यायाधीशों एवं बुद्धिजीवियों द्वारा सार्वजनिक मंचों पर भाषण देने के योग्य प्रतीत होती है। […]

फूलन देवी: जाति और मर्द की सत्ता को एक चुनौती

विमर्श
2 years ago

फूलन देवी एक ऐसा नाम जिसे दुनिया के वंचितों के साथ बहुजन आबादी ने सराहा है, इतना ही नहीं इनकी गौरव गाथा को सलाम भी किया है। पूरी दुनिया के इतिहास में फूलन देवी को लौह महिला के रूप में देखा जा गया है। फूलन देवी की विद्रोही तेवर को दुनिया ने सराहा है। तभी तो दुनिया के नामचीन पत्रिका […]

विकास का मॉडल क्या होता है? आइये सरल भाषा में बात कर लें

विमर्श
2 years ago

विकास का मतलब? और भी अमीर हो जाना। अमीर हो जाना मतलब? मतलब हमारे पास हर चीज़ का ज़्यादा हो जाना। मतलब पैसा ज़्यादा, जमीन ज्यादा, मकान ज्यादा हो जाना? हाँ जी। आपका विकास हो जाएगा तो आपके पास ज्यादा पैसा आ जाएगा जिससे आप ज्यादा गेहूं, सब्जियां, ज्यादा वगैरह खरीद सकते हैं? हाँ जी। क्या आपके लिए प्रकृति ने […]

आरएसएस का ताजमहल कैसा है?

विमर्श
2 years ago

ताजमहल भारत में है, दुनिया भर से लोग उसे देखने भारत आते हैं। पर वह भारतीय संस्कृति का प्रतीक नहीं है। लालकिला भी भारतीय संस्कृति का प्रतीक नहीं है। इसके सिवा और भी बहुत सारी इमारतें हैं, जो आरएसएस और उनके नेताओं के लिए इसलिए भारतीय संस्कृति का प्रतीक नहीं हैं, क्योंकि इन सबके निर्माता मुस्लिम शासक थे। इसलिए वे […]

जाति विनाश- एक थकाऊ और अनावश्यक प्रोजेक्ट

विमर्श
2 years ago

आर्य आक्रमण थ्योरी सही हो या न हो, इतना तो पक्का हो चला है कि मूल रूप से इस देश में श्रमणों की संस्कृति थी जो पहले गंगा यमुना के संगम के इलाके से पूर्व की तरफ फ़ैली हुई थी। बाद में बौद्ध संस्कृति के रूप में इसका विस्तार कंधार बामियान तक हुआ। ये श्रमण असल में जैन, बौद्ध और […]

स्तनपान की कुंठा पर अनुराधा सरोज का जबरदस्त लेख

विमर्श
2 years ago

पिछले हफ़्ते एक कॉलीग अपनी बेटी को ऑफ़िस लाई थी। काम कर रही थी, बीच बीच में दूध पिलाती थी। कॉन्फ़्रेन्स कॉल के वक़्त दूसरा कॉलीग बच्ची को बाहर टहलाने ले गया। मैं अपनी नई-नई माँ बनी दोस्त को देखती हूँ, तो लगता है के पूरा दिन वो बस दो साँस अपने लिए ले सके तो काफ़ी है, और अब […]

पीरियड्स की समस्या पर लेखिका अनुराधा सरोज का जबरदस्त लेख.. जरूर पढ़ें

विमर्श
2 years ago

मुझे जब पीरियड्स शुरू हुए तो मेरी माँ ने मुझे पहले नहीं बताया था। जाने उन्हें कैसा संकोच था? मेरे लिए वो दुःख और परेशानी लेके आये थे, जैसे मैंने कोई बड़ा पाप कर दिया हो। मुझे याद है, मैं उस दिन भगवान की मूर्ति के आगे खूब रोई थी और मुझे फिर कभी पीरियड्स ना हों इसकी दुआ मांगी […]

मोदी ने शौच करती महिलाओं की फोटो लेने वाली ‘हत्यारी भीड़’ खड़ी कर दी

विमर्श
2 years ago

राजस्थान में सीपीआई-एमएल कार्यकर्ता जफर हुसैन को सरकारी कर्मचारियों ने इसलिए पीटकर मार डाला क्योंकि वो शौच कर कर रही महिलाओं का फोटो खींचने से मना कर रहे थे। वे महिलाएं जिस कच्ची बस्ती से आती हैं, वहां शौचालय न होने के बाबत वे पहले भी शिकायत कर चुके थे। यदि आपको यह बात अविश्वसनीय लग रही हो कि सरकारी […]

दिलीप मंडल के बीस सवाल, जो नरेंद्र मोदी से नहीं पूछता सेल्फी मीडिया

विमर्श
2 years ago

बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले अपने घोषणापत्र में भारत की जनता से कुछ वादे किए थे, जिन्हें पांच साल में पूरा किया जाना था। बीजेपी ने यह भी कहा था कि जो कहते हैं, वह करते हैं। बीजेपी ने जो कहा था, और नहीं किया, उससे संबंधित कुछ सवाल। ये सारे सवाल बीजेपी के 2014 लोकसभा चुनाव […]

और नेताजी के खाने के बाद दलित धन्य हो गया

विमर्श
2 years ago

नेताजी दलित के घर भोजन करने गए। उन्होंने अपनी एक करोड़ की कार को दलित के घर के सामने रोक दिया। और फिर उनकी गाड़ी के पीछे जो पचास – पचास लाख की गाड़ियां थी वे भी रुक गयीं। दलित घर के बाहर खड़ा था। उसके पैर कांप रहे थे। उसका दिल धड़क रहा था। उसकी गर्दन झुकी हुई थी। […]

यूजीसी के इस फैसले से बदल जाएगा भारत में उच्च शिक्षा का परिदृश्य

विमर्श
2 years ago

‘नीयत’ यानी इंटेंशन अगर सही नहीं हो तो भारतीय दर्शन परंपरा में महिमामंडित ‘न्याय’ और ‘नीति’ का समागम भी समतामूलक आदर्श समाज की संरचना नहीं कर सकता। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने ‘राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट)’ में एससी, एसटी, ओबीसी व विकलांग वर्ग को दिये जाने वाले आरक्षण के नियम में भारी बदलाव किया है। नए नियम के अनुसार अब केवल […]

जब सरकार उपवास करने लगे तो विपक्ष को ज्यादा खाना चाहिए

विमर्श
2 years ago

मैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा उपवास पर बैठने के निर्णय का हार्दिक स्वागत करता हूँ। हिंसा के सामने उन्होंने एक अहिंसक कदम उठाया है। आखिर वे मध्य प्रदेश की आत्मा हैं। जो आत्मा बेचैन होगी, वह शासन कैस कर सकती है? पहले कहा जाता था कि जब तोप मुकाबिल हो तो अखबार निकालो। लेकिन मध्य प्रदेश […]

सांप्रदायिकता से जूझने वाला सामाजिक न्याय का योद्धा..

विमर्श
2 years ago

पत्थर तोड़ने वाली भगवतिया देवी, जयनारायण निषाद, ब्रह्मानंद पासवान, आदि को संसद भेजने वाले, खगड़िया स्टेशन पर बीड़ी बनाने वाले विद्यासागर निषाद को मंत्री बनाने वाले एवं बिना डिगे सांप्रदायिकता से जूझने का माद्दा रखने वाले लोकप्रिय व विवादास्पद नेता लालू जी को 70वें जन्मदिन की बधाई व उनके आरोग्यमय जीवन की सद्कामनाएं ! यह तस्वीर है 90 और 91 […]

भाजपाई बादशाह इतने निष्ठुर ना बनें कि किसानों के लिए चंद पल न निकाल पाएं

विमर्श
2 years ago

मध्य प्रदेश के मंदसौर में 6 किसानों को वाजिब माँग उठाने के लिए मौत के घाट उतार दिया गया। मध्यप्रदेश और भाजपा शासित महाराष्ट्र के किसानों की दयनीय स्थिति और व्यथा को इससे भला बेहतर और क्या प्रदर्शित कर सकता है कि वे स्वयं अपनी ही उपज, जिसे किसान अपने सन्तान की तरह खून पसीने से सींचता है, देखभाल करता […]

हमन हैं इश्क मस्ताना लिखने वाले कबीर की आज जयंती है

विमर्श
2 years ago

कबीर उन कुछ लोगों में हैं, जिनके विचारों से मैं प्रभावित हूँ और जिनके क़दमों पर चलने की संभव कोशिश की है। बुद्ध और कबीर सैकड़ों वर्ष पूर्व हुए। एक ढाई हज़ार वर्ष पूर्व और दूसरे छह सौ वर्ष पूर्व। लेकिन दोनों मुझे हमेशा बहुत पास प्रतीत हुए हैं। अपने समय की गुत्थियों को सुलझाने में दोनों सामान रूप से […]

कबीरपंथ से कबीर ही गायब..

विमर्श
2 years ago

करीब छह सौ साल पहले कबीर धरती पर आकर चले गए, उनके विचारों का प्रभाव जबरदस्त हुआ। सामंती समाज था हमारा तब। हिन्दू धर्म में परम्परा से चलते आ रहे जातीय भेदों, अन्धविश्वासों और बाह्याचारों की जकड़न ने सामान्यजनों का जीना दुश्वार कर रखा था, साथ ही, इसका प्रभाव इतना घना कि बाहर से आई मुस्लिम शासक जातियों के साथ […]

किसानों की बदतर हालत पर पत्रकार रीवा सिंह का प्रधानमंत्री मोदी को खुला पत्र…

विमर्श
2 years ago

आदरणीय प्रधानमंत्री जी, आप प्रधानसेवक हैं, देश आपके लिए सर्वोपरि है। 125 करोड़ भुजाओं के बल के साथ आपको अपार शक्ति मिलती है। ऐसी कई बातें आपके भाषण में सुनती आयी हूं। अच्छा लगता था कि आप ऐसे नेता बने जिनसे लोग सीधे तौर पर जुड़ा हुआ महसूस करते हैं। सर, हमारा वो प्रतिनिधि जो देश को पूर्णतः समर्पित है […]

राष्ट्रपति चुनाव: सुमित्रा महाजन बनाम शरद यादव?

विमर्श
2 years ago

भारत गणराज्य के सोलहवें राष्ट्रपति का निर्वाचन होने में अब अधिक समय नहीं बचा है। 25 जुलाई को वर्तमान राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी विदा लेंगे। याने अगले दो सप्ताह में राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के निर्वाचन की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। इस बार देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद के लिए होने वाला चुनावी मुकाबला काफी दिलचस्प होगा। क्योंकि सत्तापक्ष और विपक्ष के […]

गणेश कुमार का ‘मीडिया टेस्ट’ लेने प्रश्नपत्र को कहां से और कैसे तैयार किया गया?

विमर्श
2 years ago

बिहार विद्यालय परीक्षा बोर्ड के पूर्व टॉपर गणेश कुमार के निलंबन और अंततः गिरफ्तारी ने अधिकांश भारतीय मीडिया को अपनी पीठ थपथपाने का अवसर दे दिया है. मीडिया ये कहने की स्थिति में है कि उसने बिहार के ‘शिक्षा तंत्र’ की वास्तविकता से देश को परिचित करा दिया है. चूंकि न्यूज चैनलों पर चलने वाले ‘मीडिया टेस्ट’ के बाद ही […]

More Posts
Increase-in-criminal-cases-against-women-in-Modi-government

मोदी सरकार में महिलाओं के खिलाफ आपराधिक मामलों में हुई बढोतरी?

मोदी, सेना , गोदी मीडिया और भारतीय जनता

Madhu-Limaye:-Kohinoor-of-Socialist-Politician-of-Parliamentary-Debate

मधु लिमये: बेनज़ीर संसदीय बहस के कोहिनूर समाजवादी राजनेता

Chief-Minister-Yogi-suspended-7-teachers-for-questioning-on-Pulwama-incident

मुख्यमंत्री योगी ने पुलवामा घटना पर सवाल पूछने पर 7 अध्यापकों को किया निलंबित

NSSO's-new-report-reveals,-the-number-of-women-who-quit-employment-in-the-state-of-Gujarat-rose-sharply

NSSO की नई रिपोर्ट से खुलासा, मोदी राज में रोजगार छोड़ने वाली महिलाओं की संख्‍या तेजी से बढ़ी

During-the-last-five-years-there-were-very-few-employment-opportunities-in-the-country.

पिछले पांच सालों के दौरान देश में रोजगार के बेहद ही कम मौके पैदा हुए

Debit Card

SBI ग्राहकों के लिए सुचना – एक महीने के बाद बेकार हो जायेगा आपका ATM कार्ड

Cbi

व्हिसलब्लोअर ने दावा किया- केंद्रीय मंत्री हरिभाई ने 2 करोड़ की घूस ली; डोभाल पर भी सीबीआई में दखलंदाजी के आरोप

index

भारत में बढ़ रही है बेरोजगारों की संख्या, नोटबंदी है एक बड़ा कारण

cisf-recruitment-2019-429-vacancy

CISF रिक्रूटमेंट 2019  –  429 वैकेंसी

Union-Public-Service-Commission-Recruitment-2019 - 392-Vacancy

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन रिक्रूटमेंट 2019  – 392 वैकेंसी

western-railway-recruitment-2019-3553-apprentice-vacancy

वेस्टर्न रेलवे रिक्रूटमेंट 2019 –  3553 अपरेंटिस वैकेंसी

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved