fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

भाजपा के ‘अच्छे दिन’ में ‘सच्चे दिन ‘ का नारा लाने की तैयारी में कांग्रेस

sacche din aane wale hai

2019 के मिशन के लिए कांग्रेस ने अपना नारा खोज लिया है। कांग्रेस ने चल रहे 2014 के  भाजपा के उस नारे का तोड़ निकल लिया जिसके बल पर ‘मोदी लहार’ चल रही थी। राहुल गाँधी के अगुआई में कांग्रेस ने ‘सच्चे  दिन’ लाने का नारा देने जा रही है।

Advertisement

sacche din

कांग्रेस मोदी के बयानों के झूठ को बाहर को लाने की रणनीति तैयार कर रही है। सूत्रों के अनुसार ‘कांग्रेस सच्चे दिन’ दिन आने वाले है ‘ का नारा तैयार है। इस नारे को बल देने के लिए पार्टी कई छोटी छोटी फिल्मे भी बनवा रही है।  इनमें खासतौर पर नरेंद्र मोदी के बयानों के झूठ को सामने लाया जायेगा।

पार्टी  के सोशल मीडिआ  को दिव्य रम्या स्पंदना की टीम देखती है जो काफी सक्रिय है। नरेंद्र मोदी के चार साल के 800 भाषणों से अधिक भाषणों को सुनकर उनके झूठ को उजागर करेगी और तथ्यों का मिलान करेगी।

श्रोतो के मुताबिक के रणनीतिकार ने कहा है की ऐसे 200 से अधिक झूठे वादों की लिस्ट तैयार है  20 बड़े मुद्दों के 10-10 झूठे वादे शामिल किये है। इसी के चलते कांग्रेस प्रिंटेड सामग्री के लिए पिछले चुनाव में भाजपा के उन वादों की लिस्ट तैयार कर रही है जो पुरे नहीं हुए।


रणदीप सिंह सुरजेवाला जो पार्टी के मुख्य प्रवक्ता है उनका कहना है की उनकी रणनीति साफ़ है और सच का प्रसार करना है। हम प्रोपगेंडा मैसेज नहीं फैलाएंगे जिस तरह का दुष्प्रचार हमारे प्रतिद्वंदी पार्टिया करते है। इसलिए कैंपेन  सच भारत रखा है।

कांग्रेस अपने नारे ‘सच्चे दिन’ से पूरी तरह भाजपा पर हमला बोलना चाहती है। कांग्रेस के नारे ‘सच्चे दिन’ का असली मकसद उन दूसरे नारो को बल देना है जो 2014 में भाजपा के द्वारा बोले गए थे और यह उन यादो को ताजा करेगी।

बीजेपी को एक ‘भ्रष्टाचार जनता पार्टी’ बताने के लिए भ्रष्टाचार का ए-टू-जेड बनाया गया है। इस भ्रष्टाचार की ए-टू-जेड लिस्ट में बीजेपी के कई बड़े नेता शामिल है जैसे की ए-अडानी पावर स्कैम, बी-बाल्को स्कैम, सी-चिक्की स्कैम, डी-दाल स्कैम, ई-अर्थ क्वेक रिलीफ फंड स्कैम, एफ-फिशरीज स्कैम, जी-जीएसपीएस स्कैम, आई-इंडिगो रिफाइनरी स्कैम, जे-जयशाह स्कैम, के-केरल मेडिकल स्कैम, एल-ललित मोदी स्कैम, एम-मैट्रो रेल स्कैम, एन-नीरव मोदी स्कैम, ओ-आॅपरेशन वेस्टएंड, पी-पीडीएस छत्तीसगढ़ स्कैम क्यू-क्वेरी स्कैम, आर-राफेल स्कैम, एस-एसएससी स्कैम, टी-टेंडर स्कैम,यू-यूटीआई स्कैम, वी-व्यापम, डब्ल्यू-वेट मेजरमेंट इंस्पेक्टर स्कैम, एक्स-एक्सरे टैक्निशियन स्कैम, वाई-येदिरप्पा स्कैम, जेड-जुबिन स्मृति ईरानी लैंड स्कैम।

देखना यह है की 2019  के मिशन के लिए कांग्रेस अपने नारे को किस तरह सफल कर पाती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved