fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

5 राज्यों में बीजेपी के हारने के बाद योगी जी का बयान – नहीं बताई थी हनुमान की जाति

After-the-defeat-of-BJP-in-5-states,-yogi-ji's-statement - did-not-tell-the-caste-of-Hanuman
(Image credits: Newsx)

राजस्थान में हुए विधानसभा चुनाव में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने हनुमान जी को दलित बताया था। यह मामला जोर पकड़ने लगा और इस पर चुनावो में बीजेपी को हार मिलने के बाद योगी जी ने सफाई दी।  योगी जी का कहना है की मैंने बजरंग बली की जाति नहीं बताई. उन्होंने कहा कि देवत्व व्यक्ति के कृतित्व में समाहित होता है और किसी भी जाति का आदमी देवत्व को प्राप्त कर सकता है।

Advertisement

योगी जी ने यह सफाई तब दी जब 5 राज्यों में हुए विधानसभा चुनावो में बीजेपी को मुँह की खानी पड़ी। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ तीनों ही राज्यों में पिछले दिनों हुए चुनावों में बीजेपी को सत्ता गंवानी पड़ी है। हालांकि सीएम योगी ने इससे पहले भी अपने इस बयान पर सफाई दी थी।

योगी जी का कहना था कि उनकी एक बात को बेवजह  खींचा जा रहा है। यह वे लोग हैं जो धर्म का मतलब नहीं समझते हैं। लोग उनके बयान के बाल की खाल निकाल रहे हैं जिसका कोई मतलब नहीं है उन्होंने कहा कि किसी के काम पर उंगली उठाना आसान होता है, लेकिन अगर दूसरों पर उंगली उठाने के बजाय हर कोई अपनी ज़िम्मेदारी निभाने लगे तो यह धरती दिव्यलोक बन सकती है।

योगी आदित्यनाथ ने पांच राज्यों में हुए चुनाव और उसके परिणाम को लेकर अपनी बात सामने रखी और कहा कि लोकतंत्र में हार जीत मायने रखती है लेकिन जिन लोगों ने झूठ बोलकर सत्ता हथिया ली है उनका झूठ जल्दी ही जनता के सामने आ जायेगा। योगी जी ने ईवीएम को लेकर भी विपक्ष पर तीखी टिप्पणीं दी और कहा आज चुनाव परिणाम उनके पक्ष में है तो कोई सवाल नहीं उठा रहा है और जब हमारे पक्ष में आता है तो ईवीएम पर उंगली उठाई जाती है. यह उनकी राजनीति के दोहरे चरित्र को दर्शाता है।

योगी आदित्यनाथ ने पटना के हनुमान मंदिर में दर्शन के बाद कहा कि बीजेपी ने मध्य प्रदेश और राजस्थान में अच्छी लड़ाई लड़ी है। दुष्प्रचार के बावजूद जिस तरीके के परिणाम आए हैं उससे लगता है कि आगे कि लड़ाई अब और आसान है।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved