fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बीजेपी के इस नेता ने दिया शर्मनाक बयान, कहा में हूँ भगवान्

/bjp-candidate-jai-siddheshwar-swamy-to-voters-i-am-god
Image Credit: India Today

ऐसा माना जा सकता है की सरकार जनताओ की करता घरता है। चुनाव आते ही नेता लोग बड़े बड़े वादे करते है काम करते है और यहाँ तक की घरो में जा कर चुनाव प्रचार करते है। चुनाव के बाद भले ही वह गलियों में वापस ना जाये परन्तु वह लुभाने के हर एक तरीके ढूंढ लेते है। चुनावी समय में पार्टियां अपने अपने आप को सबसे ऊपर बताती है यहाँ तक जो काम नहीं किया वह भी लोगो के सामने रखती है। आज कल चुनाव का समय है और वोट के लिए कुछ भी बोल सकते है नेता लोग। 

Advertisement


लोकसभा चुनाव 2019 के करीब आने के साथ ही चुनाव में खड़े उम्मीदवार अपने पक्ष में वोट करने के लिए जनता से वादे करने लगे हैं। वादों के साथ-साथ नेताओं के अजीब-ओ-गरीब भाषण भी सुनने को मिलते ही है लेकिन महाराष्ट्र के सोलारपुर में एक नेता ने बिलकुल ही अलग बयान दे दिया जो की शर्मनाक है। सोलारपुर से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी जय सिद्धेश्वर स्वामी ने खुद को भगवान होने की बात कही है।


नवभारत टाइम्स की खबर अुनसार जय सिद्धेश्वर स्वामी ने मतदाताओं से कहा है कि चुनाव के दौरान छुट्टियों का सीजन है, इसलिए देवदर्शन के लिए मत चले जाना। भगवान तुमसे बात नहीं करेंगे। मैं ही तुम्हारा बोलने वाला भगवान हूं। जय सिद्धेश्वर स्वामी यहीं नहीं रुके उन्होंने मतदाताओं से कहा कि दर्शन करने जाओगो तो तुम्हे भगवान नहीं मिलेंगे, पुण्य नहीं मिलेगा । तुम्हें उल्टे पैर वापस आना पड़ेगा। तुम्हारा पैसा भी खर्च हो जाएगा और समस्या का समाधान भी नहीं मिलेगा।
बता दें कि भाजपा ने साल 2014 में महाराष्ट्र में 24 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ 22 पर जीत हासिल की थी।

सोलापुर में भाजपा ने मौजूदा सांसद शरद बंसोड के स्थान पर जय सिद्धेश्वर स्वामी को मैदान में उतारा गया है। पहली बार चुनाव लड़ रहे जय सिद्धेश्वर स्वामी लिंगायत समाज के धर्मगुरु हैं। उनके इस बयान से विपक्ष पार्टी को नया मुद्दा मिल गया है। भाजपा ने उन्हें कांग्रेस के उम्मीदवार सुशील शिंदे के खिलाफ मैदान में उतारा है।वहीं, इस सीट पर दलित नेता प्रकाश आंबेडकर भी अपनी किस्मत आजमाने जा रहे हैं।


सोलापुर सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है और  जयसिद्धेश्वर स्वामी बेदा-जंगम जाति से आते हैं जो इस जाति से  ऊपर है।इस  संसदीय क्षेत्र में लिंगायत की संख्या काफी अधिक  है। लिंगायत सुमदाय से आने वाले बीजेपी नेता के विजय कुमार देशमुख के द्वारा ही स्वामी के प्रचार का खर्चा संभाला जा रहा है। 63 साल के जयसिद्धेश्वर स्वामी पिछले 32 साल से मठ चला रहे हैं। उन्होंने कहा है कि वह राजनीति करने के लिए चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। वह मानवता की सेवा और राष्ट्र निर्माण के लिए चुनाव लड़ रहे हैं।


साथ यह भी कहा कि उन्होंने शिक्षा और अन्य कामों के लिए काफी काम काम किया है।उनका कहना है कि वह सोलारपुर में आईटी हब लगाना चाहते हैं।
महाराष्ट्र की 48 सीटों पर मतदान शुरुआती चार चरणों में होगा। पहले चरण में 7 सीटों पर 11 अप्रैल को, दूसरे चरण में 10 सीटों पर 18 अप्रैल को, तीसरे चरण में 14 सीटों पर 23 अप्रैल को और चौथे चरण में 17 सीटों पर 29 अप्रैल को चुनाव होगा।


अब चुनाव आते ही पार्टी के लोग किस तरह के बोल बोल जाते है यह तो उन्हें खुद भी नहीं पता। परन्तु बीजेपी पार्टी में कई ऐसे नेता है जो अपने आप को सबसे ऊपर मानते है और यह बात जय सिद्धेश्वर स्वामी ने  बोल के साबित कर दी। चुनावों में बड़े बड़े वाडे किये जाते है परन्तु खुद को भगवान् का दर्जा देना एक शर्मनाक हारकर है। 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved