fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

अखिलेश के गढ़ से भाजपा प्रत्याशी ‘निरहुआ’ के साथ लोगो ने किया यह, भागे ‘निरहुआ’

BJP-candidate-'Nirhua's-rally-in-Akhilesh-Yadav-hometown,-people-showed-anger
(Image Credits: Latestly.com)

आगामी लोकसभा में भाजपा ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव के सामने भोजपुरी फिल्म के सुपर स्टार दिनेशलाल यादव ‘निरहुआ’ को आजमगढ़ से टिकट दिया है वही लोकसभा चुनाव में नामांकन करने से पहले ‘निरहुआ’ ने रोड शो किया। ‘निरहुआ’ को रोड शो के दौरान जनता के विरोध का सामना करना पड़ा। मेहनगर विधानसभा क्षेत्र में ग्रामीणों ने अखिलेश यादव जिंदाबाद और निरहुआ वापस जाओ के नारे लगाए।

Advertisement

हालांकि पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद ‘निरहुआ’ के काफिले को परमानपुर गांव से बाहर निकाला। समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जैसे जुझारू नेता के सामने राजनीती में अपना कदम रखने वाले भोजपुरी हीरो को उतार कर भाजपा ने अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मार ली है।

सोमवार को ‘निरहुआ’ गाजीपुर जिले में अपने पैतृक गांव टड़वा पहुंचे। बता दें कि दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ आजमगढ़ के मेहनाजपुर से चौक तक रोड शो कर रहे हैं। रोड शो पर निकलने से पहले उन्होंने मलिक मरदान शाह बाबा की मजार पर मत्था टेका और जीत के लिए कामना की। यहां से वह आजमगढ़ में आयोजित रोड शो के लिए रवाना हो गए।

दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ का काफिला जब परमानपुर गांव से हो कर गुजरा तो ग्रामीणों ने ‘निरहुआ’ के काफिले को रोकने की कोशिश की। यह देख कर पुलिस ने ग्रामीणों को खदेड़ना शुरू किया। जिसके बाद ग्रामीण ‘अखिलेश यादव जिंदाबाद’ और ‘निरहुआ तुम वापस जाओ’ के नारे लगाने लगे। चाहे भले भी ‘निरहुआ’ उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगो के दिल में एक हीरो की तरह बसते हो पर आजमगढ़ की जनता के लिए राजनीती के असली हीरो अभी भी अखिलेश यादव ही है।

‘निरहुआ’ के खिलाफ विरोधी नारे लगता देख भाजपा का असली चेहरा भी समाने आने लगा काफिले में शामिल भाजपा के समर्थकों ने ग्रामीणों को अपशब्द कहना शुरू कर दिया । जिसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस और ‘निरहुआ’ के काफिले पर पथराव किया। हालांकि, पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद ‘निरहुआ’ के काफिले को परमानपुर गांव से बाहर निकाल दिया। दो-तीन स्थानों पर ‘निरहुआ’ को विरोध को सामना भी करना पड़ा।


निराहुआ के काफिले में शामिल भाजपा के लोग अपना विरोध नहीं सहन कर पा रहे थे वह लगातार गांव वालो को ही अपशब्द कहते नज़र आये वही इस बात को देखते हुए ग्रामीणों ने भी काफिलों उनके काफिले पर खेतों से मिट्टी का ढेला फेक और सपा के झंडे लहराकर अपना विरोध ज़ाहिर किया।

भाजपा काफिले को इस दौरान काला झंडा भी दिखाया गया। निरहुआ वापस जाओ के नारे भी लगाए। पुलिस ने निरहुआ का वाहन पहुंचने के पहले विरोध कर रही भीड़ को डंडा भांजकर खदेड़ दिया। मीडिया में छपी खबरों के अनुसार, जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने मीडिया को जानकारी देते हुआ बताया कि भाजपा प्रत्याशी द्वारा अनुमति लेकर रोड-शो किया जा रहा है। जिलाधिकारी के आदेश पर निराहुआ के काफ़िले का विरोध करने और उनपर पर पथराव करने के आरोप में 10 नामजद और लगभग 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved