fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बीजेपी सरकार ने दिया गुजरात के लोगो को धोका, गुजरात दंगो के इस आरोपी को दिया टिकट

BJP-government-cheated-to-the-people-of-Gujarat,-ticket-given-to-this-accused-of-Gujarat-riots
(Image Credits: The wire)

बीजेपी सरकार लोकसभा चुनाव जितने के लिए कुछ भी कर सकती है, यह बात इसी से साबित होती है की पार्टी में एक गुनहगार को टिकट दिया गया। जी हाँ अपराधों में नाम कमा चुके एक शख्श को बीजेपी वालो ने चुनाव का टिकट थमा दिया। बीजेपी को गुंडों की सरकार माना जाता रहा परन्तु यह साबित भी हो गया की अपराधियों को पार्टी में शामिल करना कोई बड़ी बात नहीं। क्यूंकि चुनावी जंग में सब जायज है भले ही पार्टी की जीत पक्की हो जाये और जनता का बंटाधार हो जाये परन्तु अपराधियों को चुनाव में जरूर उतारा जायेगा।

Advertisement

बीजेपी सरकार में गुजरात की आणंद लोकसभा सीट से प्रत्याशी मितेश पटेल ने अपने चुनावी हलफनामे में यह घोषणा की है कि वह गोधरा कांड के बाद 2002 में राज्य में हुए दंगों से जुड़े मामले में आरोपी था। भाजपा ने 54 वर्षीय पटेल को प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी के खिलाफ मध्य गुजरात की आणंद लोकसभा सीट से उतारा है। मंगलवार को चुनाव अधिकारियों को सौंपे अपने हलफनामे में पटेल ने जिक्र किया है उनके खिलाफ आणंद जिले के वसाड पुलिस थाने में 2002 में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पटेल पर दंगों, पथराव, चोरी, आगजनी में शामिल होने समेत और भी कई आरोप हैं।

दिए हलफनामे के मुताबिक पटेल के खिलाफ भादंसं की धारा 147 दंगे, 149 दंगे, घातक हथियार रखने, 436 आगजनी, 332 नौकरशाह को डराने के लिए चोट पहुंचाना, 143 गैरकानूनी सभा और 380 चोरी के तहत मामले दर्ज हैं। पटेल ने यह भी बताया है कि आणंद सत्र अदालत ने सितंबर 2010 में उन्हें बरी कर दिया था। फिलहाल यह मामला गुजरात उच्च न्यायालय में है क्योंकि राज्य सरकार ने उनको बरी करने के खिलाफ 2011 में एक याचिका दायर की थी।

वहीं, दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में राष्ट्रीय लोक दल रालोद के प्रमुख अजित सिंह पर आरोप लगाया कि 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों के दौरान वह ‘‘दंगाइयों’’ के साथ खड़े थे और वे दंगे में मारे गए दो युवकों के परिजन से क्यों नहीं मिले। योगी ने कहा कि मनमोहन सिंह जब देश के प्रधानमंत्री थे, तब अजित सिंह भी केंद्रीय मंत्री हुआ करते थे, तो उस वक्त उन्होंने अल्पसंख्यकों के लिए क्या किया।

बागपत संसदीय सीट के तहत आने वाले किनौनी में आयोजित ‘विजय संकल्प’ सभा को संबोधित करते हुए योगी ने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों के हितों का पूरा ध्यान रखा गया है। योगी ने अजित सिंह के किसान नेता होने पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अजित सिंह अपने बेटे जयंत के साथ सिर्फ विदेशों में घूमते रहते हैं। उन्हें यह तक नहीं पता कि आलू जमीन के अंदर होता है या बाहर। योगी ने भाजपा के ‘‘किसान हितैषी’’ होने का दावा किया और कहा कि भाजपा सरकार में किसानों के हितों का पूरा ध्यान रखा गया है। योगी ने कहा कि जब­ तक खेत में गन्ना खड़ा है, चीनी मिलों का धुआं बंद नहीं होगा। भाजपा के शासनकाल में ही रमाला चीनी मिल का विकास हुआ है।


बड़े बड़े दावे करती आ रही भाजपा सरकार में यूँ तो सब झूठ ही है परन्तु अब पार्टियों में ऐसे लोगो को जगह दी जा रही है जिन पर आपराधिक मामले दर्ज है। चुनाव प्रचार में लोगो के हितो में बात करने वाली सरकार ही जनता की दुश्मन बन रही है। आखिर ऐसा कब तक मोदी सरकार देश के लोगो के साथ खिलवाड़ करती रहेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved