fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

जातिय समीकरण का फायदा उठा रही है बीजेपी, बीजेपी का चुनाव से पहले बड़ा प्लान

BJP-is-taking-advantage-of-the-caste-equation,-BJP's-big-plan-before-election
(image credits: Telegraph India)

बीजेपी सरकार हर उस मौके का फायदा उठाना जानती है जिससे उसे उसके नेताओं को फायदा मिल सके। चाहे वह जातिगत मामला हो या फिर धार्मिक, बीजेपी हर क्षेत्र में सभी मौको का फायदा उठा कर और भी मजबूत बनती जा रही है। इन्ही सब बातो को देखते हुए महाराष्ट्र में भी अब बीजेपी अपने पाँव पूरी तरह जमाने के फ़िराक में है।

Advertisement

भारतीय राजनीति और चुनावों में जातिगत आंकड़ों का बड़ा महत्व होता है। भाजपा, जो इस वक्त देश की सबसे बड़ी पार्टी है और केन्द्र की सत्ता में है, वह जातिगत समीकरणों की महत्ता को बखूबी पहचानती है। यही वजह है कि पार्टी ने मंगलवार को दो महत्वपूर्ण राज्यों उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति में जातीय समीकरणों का बखूबी ख्याल रखा है। 

एक बार फिर जातिवाद का सहारा लेकर लोगो को लुभाने की कोशिश में है भाजपा सरकार। बता दें कि भाजपा ने उत्तर प्रदेश में कुर्मी जाति से आने वाले स्वतंत्र देव सिंह को पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। स्वतंत्र देव सिंह, महेंद्र नाथ पांडेय की जगह लेंगे, जिन्हें केन्द्र सरकार में मंत्रीमंडल में जगह दी गई है।

स्वतंत्र देव सिंह फिलहाल यूपी सरकार में परिवहन एवं प्रोटोकॉल मिनिस्टर हैं। सिंह के राजनैतिक करियर की बात करें तो उनका संबंध यूपी के मिर्जापुर से है, जो कि आरएसएस और भाजपा का मजबूत गढ़ माना जाता है। स्वतंत्र देव सिंह ने अपने राजनैतिक करियर की शुरुआत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से की। अपने 3 दशक के राजनैतिक करियर में सिंह संगठन के स्तर पर कई महत्वपूर्ण पदों पर पेअर जमा चुके है।

स्वतंत्र देव सिंह को साल 2001 में उन्हें पार्टी के नए सदस्य बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। स्वतंत्र देव सिंह साल 2014 में वह पीएम मोदी की रैलियों का सफल प्रबंधन कर चुके हैं। हालिया लोकसभा चुनावों में उन्हें मध्य प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई थी। सिंह पर कुछ ही दिनों में होने वाले उप-चुनावों की जिम्मेदारी है। इसके अलावा राज्य में साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों में भी स्वतंत्र देव सिंह की नेतृत्व क्षमता की कड़ी परीक्षा होगी।


बड़े जाति से किसी को बड़ा पद देना यह पहली बार नहीं है। भाजपा में यह तो आम बात है जिनमे दलित समाज के लोगो को पीछे रखा जाता है तो वही बड़े जाति को हमेशा आगे रखा गया है। इस बार भी भाजपा ने चुनाव से पहले मराठियों को लुभाने के लिए बड़ा कदम उठाया है। 

महाराष्ट्र की अब बात करें तो वहां भी भाजपा ने जातीय समीकरण पूरा ख्याल रखते हुए पूरा फायदा उठाया है और राज्य के प्रभावशाली मराठा समुदाय से पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष चुना है। बता दें कि भाजपा ने महाराष्ट्र सरकार में राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल को महाराष्ट्र यूनिट का प्रदेश अध्यक्ष चुना है। वहीं विधायक मंगल प्रभात लोढा को मुंबई यूनिट का अध्यक्ष चुना गया है। चंद्रकांत पाटिल ने रावसाहेब दानवे की जगह ली है, जिन्हें मोदी सरकार में केन्द्रीय राज्यमंत्री बनाया गया है।

जातिय समीकरण के चलते बीजेपी को हर जगह से फायदा मिलता रहा है। जातिय समीकरण के चलते ही भाजपा छोटे से बड़े क्षेत्र में अपना कदम जमाने में कामयाब रही है। 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved