fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बीजेपी नेता ने ड्यूटी कर रहे पुलिस अधिकारी को सरेआम दे डाली धमकी, घटना का वीडियो हुआ वायरल

BJP-leader-threatens-on-duty-police-officer,-video-of-incident-gone-Viral
(Image Credits: Newstrack)

देशभर में लोकसभा चुनाव का माहौल है, तीन चरणों के मतदान समाप्त होने के बाद सोमवार को चौथे चरण का चुनाव शुरू हुआ। इसी प्रकार उत्तरप्रदेश के कानपुर में भी चौथे चरण के मतदान आरंभ हुआ। इसी बीच मतदान के दौरान कानपूर में एक पोलिंग बूथ पर तैनात सीओ और बीजेपी नेता के बीच झड़प का मामला सामने आया है। इस घटना का सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो रहा है। वीडियो में बीजेपी नेता सीओ को यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि तू मेरी हिट लिस्ट में है, कल के बाद तुझे बताता हूं।

Advertisement

बीजेपी नेताओ की गुंडागर्दी के बारे में हम अक्सर सुनते है, कभी इसका शिकार आम आदमी होता है तो कभी कोई सरकारी अधिकारी। भारतीय जनता पार्टी अपनी सत्ता का गलत इस्तेमाल करती है तो यह तो सभी को मालूम ही होगा। इसी प्रकार अक्सर बीजेपी नेता भी सत्ता के गुरुर में आकर किसी के साथ भी कैसा भी बर्ताव करने से पीछे नहीं हटते हैं।

पोलिंग बूथ पर तैनात सीओ और बीजेपी नेता के बीच झड़प की वीडियो में कानपूर की मेयर प्रमिला पांडेय दोनों पक्षों को शांत कराते देखा गया। प्रमिला पांडेय दोनों पक्षों को शांत कराते हुए नजर आईं। बीजेपी नेता द्वारा ड्यूटी कर रहे सीओ के साथ इस प्रकार का व्यवहार करना उचित नहीं है।

आइए अब हम आपको इस पूरी घटना के बारे में बताते हैं, दरअसल, कानपुर में चौथे चरण के तहत सोमवार को वोटिंग हुई लेकिन इस दौरान पोलिंग ड्यूटी में तैनात सीओ जनार्दन दुबे से बीजेपी नेता और प्रदेश मंत्री सुरेश अवस्थी की तीखी नोकझोंक हो गई। मामले को शांत कराने के लिए कानपूर की मेयर प्रमिला पांडेय को बीच में आना पड़ा।

ग्वालटोली थाना क्षेत्र में स्थित परमट के सरकारी स्कूल में मतदान चल रहा था। आरोप है कि बीजेपी के एक पोलिंग एजेंट से सीओ कोतवाली जनार्दन दुबे ने अभद्रता की। जब इस बात की जानकारी बीजेपी नेता व प्रदेश मंत्री सुरेश अवस्थी को हुई तो वह सीओ जनार्दन दूबे से भिड़ गए। दोनों में जमकर बहस हुई वहां मौजूद मेयर ने दोनों को समझा-बुझा कर शांत कराया। वहीँ इस घटना का वीडियो भी वायरल हो गया।


इस मामले में सीओ दूबे ने बताया एक दरोगा की सिविल लाइंस के पोलिंग बूथ में ड्यूटी लगी हुई थी। सुरेश अवस्थी का घर सामने ही है और वह कुछ लोगों को पोलिंग बूथ के पास भेज रहे थे। जिसके बाद वोटर लिस्ट आदि को लेकर विवाद हो गया। विवाद बढ़ता देख मैं भी वहां पहुंच गया था। परन्तु उस दौरान सुरेश अवस्थी तीन-चार लोगों के साथ आए और कहने लगे कि तुम तो मेरी हिटलिस्ट में हो और मैं तुम्हें देख लूंगा।

वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है की किस प्रकार बीजेपी नेता सुरेश अवस्थी सीओ
जनार्दन दुबे को धमकी भरे अंदाज में देख लेने की बात कह रहे हैं। बीजेपी नेता ने कहा कि तू मेरी हिट लिस्ट में है, तुझको बता रहा हूं कल के बाद.. ठीक नहीं होगा। इस दौरान उन्होंने सीओ को दुष्ट तक कह दिया। बता दें कि सुरेश अवस्थी 2017 के विधानसभा चुनाव में सीसामऊ विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं।

वहीं इस मामले में एसपी पश्चिम संजीव सुमन के मुताबिक ग्वालटोली के एक पोलिंग सेंटर पर एजेंट बैठकर पार्टी का काम कर रहे थे, जिसपर सीओ ने आपत्ति प्रकट की थी। इसके बाद बीजेपी नेता सुरेश अवस्थी अपने कुछ लोगों के साथ आए, उन्हें लगा कि सीओ पोलिंग एजेंट को हटाने की कोशिश कर रहे हैं। जिसके कारन दोनों लोगो के बीच कहासुनी हो गई। आखिर में सीओ की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत करके कार्यवाई की जा रही है।

बीजेपी नेता सुरेश अवस्थी द्वारा ड्यूटी निभा रहे अधिकारी के साथ इस प्रकार का व्यहार उनके अहंकार को दिखाता है। वह अहंकार जो उन्हें उनकी ही पार्टी द्वारा मिला है। मौजूदा सरकार में बीजेपी नेताओं के ऐसे रवैये से लगता है की सत्ता मिलने के बाद उन्हें किसी भी कानून और नियमो की परवाह ही नहीं है।

बीजेपी नेता द्वारा सीओ को धमकी देने से उनकी मानसिकता का पता चलता है। ऐसी मानसिकता जो किसी भी बात को लेकर लड़ाई झगड़े पर उतारू हो जाए। उन्हें यह पता होना चाहिए की उनको जनता ने चुना है, और उनके इस प्रकार के व्यवहार से लोगो के सामने गलत संदेश जाएगा।

वैसे देखा जाये तो मौजूदा सरकार में बड़े पदों पर बैठे नेता जिस प्रकार की सोच रखते हैं। इससे पार्टी में बाकि नेताओ की मानसिकता पर भी पर भी प्रभाव पड़ता है। और इसी कारण हम बीजेपी नेताओं द्वारा उनके इस प्रकार के व्यवहार के आलावा कुछ और उम्मीद भी नहीं कर सकते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved