fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

पुलिस के पकड़ने पर रोने लगे बीजेपी नेता, वीडियो हुई वायरल

BJP-leaders-started-crying-when-police-caught,-viral-video
(Image credits: Patrika)

बीजेपी सरकार यूँ तो अपने नए नए कारनामो और बयानों के चलते विवादों में बनी रहती है। परन्तु इस बार बीजेपी के नेता का अलग ही मामला सुनने को आया है। बीजेपी सरकार में कुछ विधायक ऐसे है जो विवादों में आने के लिए कुछ भी कर बैठते है। मामला यूपी का है जहां चालान काटने के बाद बीजेपी विधायक सड़क पर बैठ कर रोने लगे। यही नहीं काफी देर तक पुलिस विधायकों के सामने सड़क पर बैठ का हंगामा किया और अधिकारियों के पैर भी पकडे।

Advertisement

मामला उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर की है जहाँ चालान काटने के बाद बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष अनिल सिंह ने पुलिस पर कथित दुर्वहार का आरोप लगाने के बाद बीच सड़क धरने पर बैठ गए। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र के थानेदार पर सरेआम डंडा दिखाने और सार्वजनिक रूर से बेइज्जत करने का आरोप लगाया।

बीजेपी नेता की रोने वाली वीडियो काफी वायरल हो रही है। वीडियो में बीजेपी नेता यह कहते हुए फूट-फूटकर रोने लगे कि अपनी ही सरकार में बेइज्जती बर्दाश्त नहीं हो रही है। मौके पर पहुंचे एसपी अवधेश पांडेय के सामने अनिल सिंह जोर जोर से रोते हुए दिखाई दिए। इस दौरान वह एसपी के पैर पर भी गिर गए और खुद को पुलिस के दुर्व्यवहार से आहत बताया।

पुलिस अधीक्षक अवधेश पांडेय के सामने रोते हुए अनिल सिंह ने कहा, “मैं ईमानदार आदमी हूं, सबके सामने बेइज्जत कर दिया। मैं बहुत गरीब आदमी हूं।” दरअसल, यह वाकया शहर कोतवाली इलाके के नीबी के पास घटित हुआ। मामला यह था कि पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान सांसद रामसकल के घर से लौट रहे बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष और काशी प्रांत के मंत्री अनिल सिंह को पुलिस ने उनकी गाड़ी के साथ रोक लिया। लेकिन, गाड़ी के कागजात नहीं होने पर उनका पुलिस ने चालान काट दिया।

अनिल सिंह का आरोप था कि उन्होंने अपनी पहचान बताई फिर भी उनका सरेआम उनका मजाक बनाया गया । इलाके में उनकी प्रतिष्ठा है, लेकिन पुलिस लगातार उन्हें अपमानित करती रही। अनिल सिंह ने आरोप लगाया की परिचय पत्र दिया तो उसे भी फेंक दिया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस ऐसे में आम जनता के साथ कैसा व्यवहार करती होगी। हालांकि, एसपी के काफी मान-मनौव्वल के बाद वह धरने से उठे।


बीजेपी नेता ने बिच सड़क पर बैठ कर पुलिस वालो के नाक में दम कर दिया है तो वही उल्टा पुलिस पर आरोप लगा दिया। बीजेपी नेता कभी पुलिस पर कार्यवाही ना करने का आरोप लगाता है तो कभी बेइज्जत करने का आरोप। बीजेपी पार्टी में नेताओ का रूप इतना ऊपर है की वह अपनी गलतियों को खुद नजरअंदाज कर देते है परन्तु गलती नजर आने पर वह रोने का नाटक करते है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved