fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

इस भाजपा सांसद ने चुनाव जीतने के बाद जेल में अपराधी को कहा धन्यवाद

BJP-MP-thanks-the-culprit-in-jail-after-winning-the-election
(image credits: india today)

भाजपा की सरकार में कितने लोग आरोपों से घिरे है यह तो सभी लोग जानते है। मोदी की सरकार में कई नेता ऐसे है जिन पर कई आपराधिक मामले दर्ज है। यह बात किसी से नहीं छुपी की भाजपा सरकार में कई नेताओ का रिश्ता अपराधियों से भी है। वही एक ऐसा मामला भी सामने आया है जिसमे भाजपा के सांसद साक्षी महाराज दुष्कर्म अपराधी से मिलने जेल पहुंचे।

Advertisement

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने बुधवार को सीतापुर जिला कारागार में दुष्कर्म के आरोप में बंद विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने पर्यावरण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में जिला कारागार परिसर में पौधरोपण भी किया। वह करीब 40 मिनट तक सीतापुर जेल में रुके। कुलदीप सिंह सेंगर बांगरमऊ से भाजपा विधायक हैं और उन्नाव के चर्चित दुष्कर्म मामले के आरोपी हैं।

मुलाकात के बाद लौटते समय पत्रकारों से बातचीत में साक्षी महाराज ने कहा, “विधायक कुलदीप सेंगर काफी समय से इस जेल में बंद हैं। ऐसे में मैं चुनाव जीतने के बाद उन्हें धन्यवाद देने के लिए उनसे मिलने आया था।” लोकसभा चुनाव में EVM की खबरे जोरो पर थी परन्तु अब बपता चलता है की अपराधियों ने भी बीजेपी के लोगो की जितने में मदद की है। भाजपा का नया चेहरा सामने आता जा रहा है।

सांसद साक्षी महाराज ने आगे कहा कि वह विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से केवल मिलने के लिए आए थे। बातचीत के दौरान उनका केवल हालचाल जाना। उन्होंने कहा, “उनकी परेशानी और सुविधा की चिंता तो मैं नहीं कर सकता हूं। ईद की छुट्टी के दिन जेल प्रशासन ने मुलाकात करा दी, इसलिए मैं उन्हें भी धन्यवाद देता हूं।”

साक्षी महाराज यही नहीं रुके उन्होंने विपक्षी पार्टियों के खिलाफ आग उगली। सपा-बसपा का गठबंधन टूटने के सवाल पर साक्षी ने कहा कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी एक साथ लड़े या अलग-अलग, इससे भाजपा की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ता है।


गौरतलब है कि कुलदीप सेंगर बांगरमऊ से भाजपा विधायक और उन्नाव के चर्चित दुष्कर्म मामले के आरोपी हैं। कुलदीप उन्नाव के अलग-अलग विधानसभा सीटों से चार बार से लगातार विधायक हैं।

पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सेंगर ने उसके साथ चार जून, 2017 को अपने आवास पर दुष्कर्म किया, जहां वह अपने एक रिश्तेदार के साथ नौकरी मांगने के लिए गई थी। कुलदीप के खिलाफ उन्नाव के माखी थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 363, 366, 376, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। शासन ने इस आदेश में इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी, जिसे एजेंसी ने स्वीकार कर लिया था।

बीजेपी सरकार में आरोपियों की भर्ती पर कोई रोक नहीं लगी है। अभी भी आरोपों से घिरे लोगो से बीजेपी नेताओं का मिलना जुलना है। आखिर क्यों न मिले लोकसभा चुनाव में लोगो से जबरदस्ती वोट डलवाने और हेराफेरी में काफी साथ निभाया है। साक्षी महाराज एक बार फिर से विपक्षी पार्टियों की नजरो में आ खड़े हुए है। साक्षी महाराज भी अपने तीखे बोल के चलते सुर्ख़ियों में बने रहते है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved