fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

भाजपा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने कांशीराम और मायावती को लेकर की अभद्र टिपण्णी

BJP's-minister-Anupma-Jaiswal-indecent-remarks-against-Kanshi-Ram-and-Mayawati
(Image Credits: Scroll.in)

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर विवादित बयानबाजी भी चरम पर पहुंच रही है आजकल सभी विवादित बयान देकर सुर्खियों में आने के लिए अपने शब्दों को सीमा को लांघ रहे है। रविवार को उत्तर प्रदेश की बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने बसपा प्रमुख मायावती और कांशीराम को लेकर आपत्तिजनक टिपण्णी की है। बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने बीजेपी की आईटी सेल द्वारा आयोजित ‘साइबर योद्धा’ सम्मेलन में विपक्ष की तुलना जानवरों के झुंड से कर दी और बीएसपी प्रमुख मायावती को लेकर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की।

Advertisement

भाजपा के नेताओ के ओर से लगातार अप्पतिजनक बयान आने का कारन यह भी हो सकता है की चुनाव आयोग के द्वारा कही न कही दोहरा रवैया अपनाया जा रहा है इसलिए भाजपा के जो मुँह में आ रहा है वह बोलते नज़र आ रहे है। अनुपमा जायसवाल ने बीएसपी संस्थापक कांशीराम, पार्टी प्रमुख मायावती और उनके दल के नेताओं पर विवादित टिप्पणी करते हुए कहा, ‘आप सबने सुना होगा साहब, बीवी और गुलाम। उनकी पार्टी के मुखिया रहे साहब इस दुनिया को छोड़ चुके हैं। अब केवल बीवी और उसके गुलाम बचे हैं। अकेली बीवी कुर्सी पर बैठती है और गुलाम उसके सामने जमीन पर बैठते हैं। इस पार्टी को पिछले लोकसभा चुनाव में जीरो मिला था, इस बार अंडा मिलेगा।’

अनुपमा ने बीएसपी प्रमुख मायावती को ‘माया महाठगनी’ बताते हुए कहा कि व्यक्ति का ‘नेचर’ और ‘सिग्नेचर’ कभी नहीं बदलता। उन्होंने कहा कि अपने अस्तित्व के संकट को देखकर सभी विपक्षी पार्टियां एक हो रही हैं। जो कभी एक दूसरे को फूटी आंखों नहीं सुहाते थे, वे आज एक दूसरे के लिए वोट मांग रहे हैं। अनुपमा ने बीजेपी आईटी सेल द्वारा आयोजित ‘साइबर योद्धा’ सम्मेलन में एसपी, बीएसपी और आरएलडी के गठबंधन पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि जब कुत्ते, बिल्ली, ऊंट, खच्चर आदि एक घाट पर पानी पीने लगें तो समझ लो दूसरी तरफ शेर पानी पीने आ रहा है

बेसिक शिक्षा मंत्री ने मायावती पर फिर तंज किया कि देश में ऐसे भी नेता हैं जिनकी प्रधानमंत्री बनने की इच्छा तो है, लेकिन चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि उन्हें अपनी जीत का भरोसा नहीं है। उन्होंने कहा, ‘बहन जी (मायावती) ने पिछले दिनों एक सवाल किया था कि प्रदेश में बीजेपी की सरकार ने दो साल में क्या काम किया? हम उसने पूछना चाहते हैं कि तुम चार बार प्रदेश की मुख्यमंत्री रही हो, तुमने क्या किया?’

अनुपमा ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को भी घेरते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना शुरू की है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी प्रधानमंत्री की इस योजना को आत्मसात करते हुए बेटी बचाने की नीति पर अमल करना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि जिसकी मां पार्टी की सुप्रीमो हो, भाई राष्ट्रीय अध्यक्ष हो और वह खुद राष्ट्रीय महासचिव हो, वह भी कहती है कि अगर पार्टी ने आदेश दिया तो मैं वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ूंगी। इसके बाद पार्टी में और कौन बचता है, जिससे उन्हें पूछने की जरूरत है? प्रियंका की ‘मैया, भैया और सैयां’ इन दिनों खतरे में हैं।


योगी सरकार की मंत्री अनुपमा जायसवाल के इस विवादित बयान के बाद निर्वाचन आयोग ने संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। वहीं, गोंडा से गठबंधन प्रत्याशी व पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह द्वारा की गई टिप्पणी पर जांच के आदेश दिए गए हैं। उप जिला निर्वाचन अधिकारी रत्नाकर मिश्र ने बताया इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की रिपोर्ट के आधार पर मामले की जांच संबंधित तहसील के एसडीएम को सौंपी गई है। रिपोर्ट आने के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved