fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बसपा प्रमुख मायावती ने बीजेपी के खिलाफ बोले तीखे बोल, कहा देवी देवताओं को जाति में बांटने वालो से जनता रहे सावधान

maywati-speaks-against-bjp,-says,-beware-of-people-who-divide-god -goddess-in-to-caste
(Image Credits: News Leak Centre)

बुहजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने हनुमान जी की जाति बताने वाले बयान को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि समाज को जातियों में बांटने की बात होती थी परन्तु अब देवी देवताओं को भी जाति में बांटने की राजनीति शुरू हो गई है. सांप्रदायिकता की राजनीति फैलाने वालों से लोगों को सावधान रहना चाहिये।

Advertisement

मायावती ने संविधान के निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी और बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि जाति और संप्रदाय की राजनीति से सामाजिक भेदभाव का खतरा गहरा गया है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भगवान हनुमान को दलित समुदाय का बताने वाले बयान का जिक्र किया और कहा था कि वोट और चुनावी स्वार्थ की राजनीति में भाजपा के वरिष्ठ नेता इतना ज्यादा गिर गये हैं कि अब वे हिन्दू देवी-देवताओं और आस्थाओं पर भी राजनीति कर रहे हैं। मायावती का कहना है कि योगी आदित्यनाथ का बयान इस समय चर्चा का विषय बना हुआ है और उनके इस बयान के आधार पर देश के सभी हनुमान मन्दिरों को दलित पुजारियों के हवाले करने की मांग भी उठ रही है।

मायावती का कहना है की भाजपा पर सांप्रदायिकता की राजनीति के जरिये समाज को बांटने का काम कर रही है और यह भी कहा कि इन लोगों ने जाति के आधार पर पहले लोगों को बांटा और अब देवी-देवताओं को भी जाति में बांटने का फरमान जारी कर रहे हैं। ऐसे लोगों से देश की जनता को संभल कर रहने की जरूरत है। बसपा प्रमुख ने दिल्ली स्थित अपने आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलाया कि डॉ. अम्बेडकर द्वारा दिए गए संविधान में एक व्यक्ति एक वोट तथा प्रत्येक वोट का एक समान मूल्य के अधिकार को निष्प्रभावी बनाने की साजिश को सफल नहीं होने देना है।

मायावती ने कहा की भाजपा की केन्द्र सरकार समतामूलक समाज की स्थापना के संकल्प को साकार करने वाले संविधान को विफल साबित करने के प्रयास में लगी है। मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं से भाजपा की इस साजिश को नाकाम बनाने का आह्वान किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर भी आरोप लगाया की वह वंचित तबकों के साथ अन्याय कर रही है।

मायावती ने कांग्रेस पर भड़कते हुए कहा कि कांग्रेस ने अपने लम्बे शासनकाल में सर्वसमाज के गरीबों, मजदूरों, किसानों, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों को समानता के संवैधानिक अधिकारों से दूर रखा। इसके कारण ही संघर्षों के बावजूद जातिवाद के शिकार इन वर्गों की हालत आज भी ख़राब है। बता दें कि कुछ दिन पहले राजस्थान विधानसभा चुनाव के प्रचार में एक रैली को संबोधित करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हनुमान जी पर टिप्पणी की थी।


हनुमान को दलित बोलने पर सीएम योगी की आलोचना हो रही है। इसके साथ ही ‘राजस्थान सर्व ब्राह्मण महासभा’ नाम के एक संगठन ने सीएम योगी को लीगल नोटिस भेजा है। इस नोटिस में तीन दिन में माफी मांगने की मांग की गई है। इसके साथ ही उन पर वोटों के लिए हनुमान जी की जाति को बीच में लाने का आरोप लगाया गया है। संगठन के प्रमुख सुरेश मेहता ने नोटिस देते हुए यह लिखा है कि योगी आदित्यनाथ ने कई श्रद्धालुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved