fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मुख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद को बताया आतंकी मसूद अजहर का दामाद

Chief-Minister-Yogi-Adityanath-told-Congress-candidate-Imran-Masood,-son-in-law-of-Terrorist-Masood-Azhar
(Image Credits: Hindustan Times)

राजनीति में विपक्षियों पार्टियों द्वारा एक दूसरे पर आरोप लगाना को नई बात नहीं है। अक्सर पार्टियों द्वारा अलग अलग मुद्दों को लेकर आपस में एक दूसरे पर बयानबाजी की जाती है। लेकिन कभी कभी राजनीतिक पार्टियों के नेता दूसरी पार्टी के नेताओं पर बयानबाजी करते वक्त अपनी सभी मर्यादा को लांघ देते हैं। हम बात करे रहे है बीजेपी के मंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की। जिन्होंने एक या दो दिन पहले ही कॉंग्रेस के प्रत्याशी इमरान मसूद को लेकर विवादित बयान दिया है।

Advertisement

दरअसल मुख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी इमरान मसूद को आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर से जोड़ते हुए कहा। इस चुनाव में जनता को तय करना होगा कि वह अजहर की जबान बोलने वाले को चुनेगी या फिर भाजपा उम्मीदवार को चुनेगी। बता दें की मुख़्यमंत्री योगी ने कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद को अजहर मसूद का दामाद बताया है।

योगी ने यह बयान सहरानपुर में लोकसभा चुनाव के प्रचार में अपने विजय संकल्प सभा में दिया। सभा में उन्होंने कहा पाकिस्तान के अंदर एक आतंकवादी है अजहर मसूद। उसी प्रकार आपके सहारनपुर में भी अजहर मसूद का एक दामाद आ गया है, जो उसकी ही भाषा बोलता है। योगी ने कहा अजहर मसूद का भी वही परिमाण होगा जो ओसामा बिन लादेन का हुआ था।

उन्होंने आगे कहा, ”इस चुनाव में आपको तय करना है कि अजहर मसूद की भाषा बोलने वाला व्यक्ति चुनाव जीतेगा या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक सिपहसलार के रूप में सहारनपुर के समग्र विकास और सुरक्षा के नायक के रूप में राघव लखन पाल आगे बढ़ेंगे।” योगी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी कड़ा तंज करते हुए कहा ”मैन विदआउट ब्रेन कौन है, आप सभी जानते हैं। जितना आप उन्हें रटाएंगे, वह उतना ही बोलेंगे। इसीलिये वह अमेठी जाकर कहते हैं कि वह पेड़ पर आलू उगाएंगे और गन्ने के पेड़ लगा देंगे।”

योगी द्वारा कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद को लेकर दिए गए बयान से उनकी मानसिकता का पता चलता है। इसके साथ साथ उनके इस बयान से हम यह भी देख सकते हैं की दूसरी समुदाय के लोगो के प्रति वो किस प्रकार की मानसिकता रखते है। मुक्यमंत्री ने अपने इस बयान से अपने विचारों को तो सामने रखा ही है साथ साथ उन्होंने ऐसा करके अपनी पार्टी के विचारों का भी परिचय दिया है।


योगी ने पिछले दिनों पाकिस्तान को लेकर बयान दिया था। जिसमे उन्होंने सैम पित्रोदा के बयान के बहाने कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा, ”कांग्रेस के पीढ़ियों के महागुरू हैं सैम पित्रोदा, जो देश की कीमत पर राजनीति करते हैं। वह देश की सेना के शौर्य और पराक्रम पर सवाल उठाते हैं। आज वह देश के लिए ‘शेम बन चुके हैं, शर्मनाक हो चुके हैं। जब महागुरु का यह हाल है तो उनके महाचेलों के क्या हाल होंगे।”

उन्होंने अपनी पार्टी की तारीफों के पूल बांधते हुए कहा की उनकी पार्टी ने देश की कीमत पर नहीं बल्कि केवल देश के लिये राजनीति की है। इसके साथ उन्होंने विपक्षी पार्टी सपा बसपा गठबंधन पर भी निशाना साधा और कहा की ये लोग भी देश की कीमत पर राजनीति कर रहे है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने विपक्षी दलों पर देशद्रोहियों को प्रश्रय देने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे तत्वों को पनाह देने वाला गिरोह देश की तरक्की नहीं होने देना चाहता। ऐसा कहकर उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर गंभीर आरोप लगाए।

योगी ने 2014 के लोकसभा चुनाव को लेकर भी विपक्षी पार्टी सपा और बसपा पर भी निशाना साधा। उन्होंने किसी का नाम लिये बगैर कहा कि वर्ष 2014 में प्रदेश के ‘भ्रष्टाचारियों की कुलदेवी’ और प्रदेश के गुंडों के ‘कुल भूषण’ देश और प्रदेश का सर्वनाश करने पर उतारू हो चुके थे, मगर भाजपा नेतृत्व ने नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित करके पूरे देश के अंदर आशा का एक नया संचार किया था।

योगी ने मोदी को बेदाग छवि का नेता बताते हुए कहा की उनका विरोधी भी कोई आरोप नहीं लगा सकता। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मोदी ने निष्कलंक छवि के साथ उन्होंने पूरा जीवन देश को समर्पित कर दिया। योगी ने कहा कि वर्ष 2014 में मोदी का नाम हमारे साथ था, अब हमारे साथ उनका काम भी है। आज देश में बस मोदी-मोदी की ही धूम है। कांग्रेस, और सपा-बसपा के 55 वर्ष के कार्यकाल पर मोदी सरकार के 55 महीने का काम भारी है।

योगी आदित्यनाथ द्वारा दूसरे पार्टी के नेताओं को लेकर इस प्रकार का बयान देना कोई नई बात नहीं है। पहले भी उन्होंने कई दफे इस प्रकार का विवादित बयान दिया है। पिछले साल की ही बात है की जब उन्होंने सपा बसपा गठबंधन का इशारा करते हुए कह दिया था की,”जैसे कोई तूफान आता है तो सांप और छछूंदर एक साथ मिल कर खड़े हो जाते हैं। यही स्थिति बसपा और सपा की है।” मुख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस प्रकार का बयान देकर उन्होंने अपने चरित्र को बयान किया है।

कांग्रेस नेता इमरान मकसूद पर दिए गए बयान से योगी अपनी उस मानसिकता को दिखाते है। जो उन्होंने एक खास समुदाय के प्रति पहले से ही बना रखी है। लेकिन हमे इसके साथ साथ मुख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कांग्रेस प्रत्याशी पर की गई टिपण्णी से आश्चर्य नहीं होना चाहिए। क्यूंकि उनके विचारधारा के अनुसार ऐसा करना आम बात है।

अक्सर बीजेपी सरकार और उनके नेताओं द्वारा ही इस प्रकार के भद्दे बयानबाजी की जाती है। खैर लोकसभा चुनाव अब आ चुके हैं, और पार्टियों के साथ साथ देश की जनता ने भी चुनाव को लेकर अपनी तैयारी कर ली है। जनता मौजदा सरकार की विफलताओं को नहीं भूली है, और अब उन्होंने सरकार को जवाब देने का भी मन बना लिया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved