fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

दिल्‍ली: भाजपा को आई दलित की याद, 3 लाख दलित घरों से इकट्ठा करेगी मुट्ठी भर चावल, रामलीला मैदान में बनेगी खिचड़ी

handful of rice
(Representational Image) (Image Credits: The Wire)

दिल्लीः भाजपा दलित समुदाय के लोगो को अपने साथ जोड़ने के लिए भरसक प्रयास कर रही है। दलित समुदाय के लोगो को अपने साथ जोड़ने के लिए बीजेपी दिल्ली में एक कार्यकम्र का आयोजन करने जा रही है। इस कार्यक्रम के तहत दिल्ली भाजपा के स्वंसेवक राजधानी दिल्ली में 3 लाख दलित के घर में जाकर एक मुट्ठी चावल और अनाज इकठ्ठा करेंगे।

Advertisement

इकट्ठा किये गए इस अनाज से आगामी 30 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में 5000 किलो खिचड़ी बनाई जाएगी। दिल्ली बीजेपी के महासचिव रविंद्र गुप्ता ने दा इंडियन एक्सप्रेस से बात करके इसकी जानकारी दी।

रविंद्र गुप्ता का कहना है की, ‘इस पहल का उद्देश्य दलितों में यह संदेश भेजना है कि भाजपा सरकार उनकी भलाई के लिए काम करती रही है और आगे भी ऐसे ही करती रहेगी।’ पार्टी सूत्रों के मुताबिक, रामलीला मैदान में होने वाले इस कार्यकम्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या फिर अमित शाह शिरकत कर सकते हैं।

बीजेपी के अनसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष मोहन लाल गिहारा का कहना है कि, ‘उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों से कहा है कि इस इवेंट को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में जगह दिलायी जाए। उन्होंने कहा कि बीते माह नागपुर में 3000 किलो खिचड़ी बनाकर गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज हुआ था, जिसे भाजपा 30 दिसंबर के कार्यक्रम में तोड़ने का प्रयास करेगी।’

मोहन गिहारा के अनुसार, दिल्ली में 1.4 करोड़ मतदाता हैं, जिसमे से 15 प्रतिशत दलित समुदाय से ताल्लुक़ रखते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने उज्जवला योजना, स्वच्छ नहरत योजना के तहत शौचायलों का निर्माण कराया है। इससे दलित समुदाय के लोगो को काफी फायदा पहुंचा है। अब इस कार्यक्रम द्वारा हम ये संदेश अपने सभी दलित भाई और बहनों तक पहुँचाना चाहते हैं, और आने वाले चुनाव के लिए हम उनसे ये अपील करते हैं की वह भाजपा को समर्थन करें।


गौरतलब है की बीते दिनों दलित अत्याचार निवारण एक्ट (Sc/St Act) में बदलाव के बाद देशभर में दलितों ने इसके खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया दी थी। सरकार को भी इस मसले पर आलोचना झेलनी पड़ी थी। लेकिन दलित समुदाय द्वारा इस पर नाराज़गी दिखाने के कारण सरकार ने अध्यादेश लाकर कानून में बदलाव को रोक दिया।

भाजपा दलितों को अपनी तरफ करने के लिए इस तरह के कार्यकर्मों का आयोजन कर रही है। बताया जा रहा है की बीजेपी ने इसके लिए 14 लाख पोस्टकार्ड भी तैयार कराएं है। इन पोस्टकार्डों को संकल्प पत्र नाम दिया गया है और इसमें प्रधानमंत्री मोदी को दलित अत्याचार निवारण एक्ट में बदलाव को रोकने और डॉ. भीमराव अंबेडकर के सम्मान में उनसे जुडी पांच जगहों को विकसित करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved