fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री रहे चुके शंकरसिंह वाघेला ने कहा- चुनाव जीतने के लिए आतंकवाद का सहारा लेती है बीजेपी

Shankersinh-Vaghela,-who-was-former-Chief-Minister-of-Gujarat,-said:-BJP-takes-support-of-terrorism-to-win-elections
(Image Credits: Firstpost Hindi)

प्रधानमंत्री मोदी पर विपक्षी पार्टियों द्वारा आरोप लगाने की खबर अक्सर सामने आती रहती है। कभी विपक्षी पार्टी कांग्रेस, मोदी सरकार पर राफेल सौदे को लेकर आरोप लगाती रहती है ,तो कभी कुछ पार्टियां सरकार पर सेना के नाम पर राजनीती करने का आरोप लगाती है।

Advertisement

एक तरफ जहाँ कभी कभी विपक्षी पार्टिया भी मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाने से पीछे हटती है, वहीँ दूसरी और बीजेपी के पूर्व नेता और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके शंकर सिंह वाघेला द्वारा बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाने का मामला सामने आया है।

दरअसल गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री रहे वाघेला ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा की, पुलवामा आतंकी हमले में आरडीएक्स ले जाने के लिए जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया गया था, उसका रजिस्ट्रेशन नंबर गुजरात का था”. उन्होंने आगे कहा, गोधरा की घटना भी बीजेपी की साजिश थी। मीडिया से बात करते हुए शंकरसिंह वाघेला (Shankersinh Vaghela) ने कहा कि, ”बीजेपी चुनाव जीतने के लिए आतंकवाद का सहारा लेती रही है। पिछले 5 सालों में तमाम आतंकवादी हमले हुए”.

शंकरसिंह वागेला सिर्फ यहीं नहीं रुके, उन्होंने बालाकोट एयरस्ट्राइक को भी बीजेपी की सोची-समझी साजिश बताया। उन्होंने कहा बालाकोट हमले में कोई भी नहीं मारा गया था। यहां तक कि कोई अंतरराष्ट्रीय एजेंसी भी यह साबित नहीं कर पाई कि एयर स्ट्राइक में 200 लोग प्रभावित हुए थे। वागेला ने कहा पुलवामा को लेकर खुफिया सूत्रों से जानकारी मिलने के बावजूद कोई कदम नहीं उठाया गया।

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा, अगर आपके पास बालाकोट को लेकर जानकारी थी तो पहले ही इन आतंकी कैंप के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की? आप क्यों इंतजार कर रहे थे कि पुलवामा जैसी कोई घटना हो।


बालाकोट में भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई पर पूरे देश को गर्व है। लेकिन इस कार्रवाई में कितने लोगो को नुक्सान हुआ है और इसको लेकर सरकार द्वारा अलग अलग आंकड़े पेश करना सरकार की असफलता को दर्शाता है। बालाकोट को लेकर कभी बीजेपी नेताओं ने 400 का आकड़ा पेश किया तो कभी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इसे 250 बताया।

बीजेपी के पूर्व नेता भाजपा पर इतना बड़ा आरोप लगाकर राजनीती में हलचल मचा दिया है। दरअसल पुलवामा घटना को लेकर उस दौरान विपक्ष पार्टियों ने भी बहुत सवाल उठाए थे। कुछ विपक्षी दलों ने तो इस घटना की टाइमिंग को लेकर मौजुदा सरकार पर हैरानगी जताई थी। इसके साथ साथ विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर इस घटना को रोकने में असफल रहने पर भी निशाना साधा था।

इतना ही नहीं वाघेला ने गुजरात मॉडल को लेकर भी मौजूदा सरकार को आड़े हाथ लिया और कहा, ‘बीजेपी का गुजरात मॉडल झूठा है. राज्य तमाम मुश्किलों से गुजर रहा है। खुद बीजेपी नेता पार्टी से नाराज हैं और उन्हें लग रहा है कि वे बंधुआ मजदूर हैं।

बीजेपी नेताओ द्वारा पार्टी से नाराज होने से पता चलता है की मौजूदा सरकार निर्णय लेते वक्त अपने नेताओ को अनदेखा कर देती है। बीजेपी द्वारा अपने नेताओं के साथ इस प्रकार का व्यवहार करने से यह पता चलता है की पार्टी में सिर्फ गिने चुने लोगो द्वारा ही फैसले लिए जाते है।

आपको बता दें की गुजरात में 26 लोकसभा सीटें हैं। पिछली चुनाव में बीजेपी सभी सीटों पर कब्जा करने में कामयाब रही थी, परन्तु इस बार कांग्रेस और अन्य दल भाजपा को कड़ी टक्कर दे रहे हैं।

पूर्व बीजेपी मंत्री ने भाजपा पर आरोप लगाकर बीजेपी की सच्चाई को सामने रखने की कोशिश की है। ऐसा करके उन्होंने विपक्षी पार्टियों की मौजूदा सरकार के प्रति छवि को और अधिक मजबूत बना दिया है।

मौजूदा सरकार चुनाव जीतने के लिए कुछ भी करने से पीछे नहीं हटती है यह तो हमे मालूम ही था। परन्तु अब इसके साथ पूर्व बीजेपी मंत्री द्वारा बीजेपी पर चुनाव जीतने के लिए आतंकवाद का सहारा लेने की बात ने, हमारे शक को और भी गहरा बना दिया है।

पूर्व बीजेपी नेता शंकर सिंह वागेला के बयानों में कितनी सच्चाई है हम कह नहीं सकते है। लेकिन उनके इस बयान ने मौजूदा सरकार की मंशा पर सवाल जरूर उठा दिया है। इसके साथ यह भी अक्सर देखा गया है की विपक्षी पार्टिया हमेशा मौजूदा सरकार की मंशा के बारे ही बाते करती रहती है।

मौजूदा सरकार की मंशा कुछ भी हो ,लेकिन उन्हें यह पता होना चाहिए की लोकतंत्र में सरकार विपक्ष और जनता के प्रति जवाब देह होती है। और अगर सरकार ऐसा करने में असफल रहती है तो आने वाले समय में भी लोगो और विपक्षी दलों द्वारा बीजेपी की मंशा पर सवाल उठते रहेंगे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved