fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मध्य प्रदेश : बीजेपी का ऑडियो हुआ वायरल- कहा, मोदी जी को कोई सुनने नहीं आ रहा, दारू-साड़ी-पैसा बांटना होगा

Shivraj Singh chouhan-modi
(Image Credits: The Indian Express)

मध्य प्रदेश में विधानसभा के चुनावी माहौल के दौरान राजनीतिक पार्टियों के ऑडिओ और वीडियो भी सामने आ रहे हैं । कभी कांग्रेस पार्टी के नेता कमलनाथ या कभी कार्यकर्त्ता या प्रत्याशी चुनावी समर में किसी न किसी के विडिओ का पता चल रहा है। इसी प्रकार एक ऑडिओ सामने आया है जिसने बीजेपी पार्टी के खेमे में भूचाल मचा दिया है।

Advertisement

कांग्रेस ने चुनाव आयोग को शिकायत करके यह ऑडियो सौंपा है। नेशनल दस्तक इस ऑडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं करता है परन्तु इस ऑडियो को चुनाव आयोग को सौपा गया है जिसमे चौंकाने वाले सवांद का पता चला है।

शिवराज के करीबी और पार्टी प्रदेशाध्यक्ष की बातचीत

कांग्रेस द्वारा शिकायत किये गए दावे के अनुसार या ऑडियो मध्यपरदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेहद नजदीकी माने जाने वाले विदिशा से बीजेपी के उम्मीदवार मुकेश टंडन और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के बीच हुई वार्तालाप का है।

इस ऑडियो में यह बताया जा रहा है की मोदी की रैली के दौरान लोग जुटाने के लिए शराब, साड़ी और पैसे बांटने की जरूरत है। कार्यकर्ताओं के लिए अपशब्दों का भी इस्तेमाल किया गया है। टंडन ने इसे फर्जी बता दिया है और इसकी जांच की मांग करी है। वहीं पार्टी के तरफ से अभी तक इसकी कोई शिकायत नहीं मिली है।


चुनाव आयोग को मिली शिकायत के अनुसार मुकेश टंडन और राकेश सिंह के बीच का सवांद

मुकेश टंडन: सर टंडन बोल रहा हूं विदिशा से।

राकेश सिंह: हां टंडन क्या चल रहा है?

टंडन: थोड़ी सी फंड की समस्या आ रही थी। पार्टी फंड से थोड़ी मदद मिल जाती तो।

राकेश सिंह: अरे, तुमको क्या समस्या?

टंडन: बहुत समस्या है सर, (कार्यकर्ता के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल)बिना पैसे के कोई काम ही नहीं करना चाह रहा।

राकेश सिंह: तुम तो हो सक्षम।

टंडन: सक्षम तो हूं सर, मैने डेढ़ करोड़ रुपए अपनी जेब से खर्च कर दिए, लेकिन सर पार्टी फंड से जितना हो जाता।

राकेश सिंह: अरे तुम चुनाव लड़ रहे हो या पैसा बांट रहे हो। 22 तुम्हारे अकाउंट में आ चुके थे। राष्ट्रीय अध्यक्ष जी ने दो भेजे थे और शिवराज जी ने बताया तीन दिए हैं।

टंडन: सर वो तो सब 25 तारीख की सभा है ना मोदीजी की, उसकी तैयारी में ही लग गए। कोई सुनने ही नहीं आना चाह रहा।

राकेश सिंह: वो टेंडर का मिला था तुमको उसका क्या हुआ, नगरपालिका का।

टंडन: आखिरी रात में शराब, पैसा ये बहुत लगेगा सर। बिना उसके कैसे जीत पाएंगे।

राकेश सिंह: चलो करते हैं चर्चा शिवराज जी से, बताता हूं तुमको फिर क्या करना है।

टंडन: सर मुझे तीन करोड़ लगेंगे ही लगेंगे। दारू, पैसा, साड़ी सब करेंगे सर। सीट निकाल लेंगे सर अपनी। बहुत बुरी हालत है, हार जाएंगे सर अपन।

राकेश सिंह: ठीक है करते हैं चर्चा, लेकिन ध्यान रखना। चुनाव लड़ रहे हो, जीत के ही आना।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved