fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मध्य प्रदेश: हार से भड़के बीजेपी नेता ने कहा- कांग्रेस के जीत वाले क्षेत्रों में शुरू की जायगी गुंडागर्दी, हफ्तावसूली, बेईमानी, मतदाताओं को रोना पड़ेगा

Madhya-Pradesh: The-BJP-leader-said,-after-the-defeat,-Hooliganism,-foul-play,-dishonesty-will-be-started-in-the-winning-areas -congress,-congress-voters-will-have-to-cry
(Image Credits: dailyhunt.in)

मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की हार के बाद पार्टी के नेताओं का दर्द सामने आने लगा है, और जिसके कारण भाजपा नेताओं द्वारा विवादित बोल बोले जा रहे हैं। जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस सम्बन्ध में ताजा वीडियो माहिदपुर से चुने गए बीजेपी के बहादुर सिंह चौहान का है। जिसमे उन्होनें कहा है कि, जिन लोगो ने शिवराज (पूर्व मुख्यमंत्री) को हराया है, वो एक माह से नहीं रोए तो बहादुर सिंह मत कहना मुझे। इस वीडियो में बहादुर सिंह कार्यकर्त्ता से कह रहे हैं कि जहां जहां-जहां कांग्रेस के विधायक बने हैं, वहां एक माह के भीतर गुंडागर्दी, बेईमानी और हफ्ता वसूली चालू हो जाएगी।

Advertisement

इससे पूर्व अर्चन चिटनीस शिवराज सरकार में मंत्री ने अपने विधानसभा क्षेत्र बुराहनपुर के मतदाताओं का आभार जताने के लिए बुलाए गए सम्मेलन मे कहा था कि जिन्होनें भी मेरी पार्टी के खिलाफ काम किया है, कल रात को वो लोग सो नहीं पाए होंगें। जिसने भी किसी के बहकावे में आकर, बरगलाने पर या मन से मुझे वोट नहीं दिया, उनको रुला न दिया तो मेरा नाम चिटनीस नहीं।

इसी प्रकार भाजपा के एक और नेता जो विधानसभा के स्पीकर रहे है डॉ. सीताशरण शर्मा ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में संगठन अपनी भूमिका ढंग से नहीं निभा पाया। कई स्थानों पर पार्टी के बागी मैदान में डटे थे, लेकिन संगठन उन्हें समझाने में नाकामयाब रहा। दरअसल डॉ. शर्मा के खिलाफ कांग्रेस ने सरताज सिंह को मैदान में उतारा था, जो उनका टिकट काटे जाने के कारण पार्टी से नाराज होकर कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

शिवराज सरकार में मंत्री रहे यशोधरा राजे सिंधिया और जयभान सिंह पवैया ने ग्वालियर चंबल में मिली करारी हार के लिए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को अपनी हार का जिम्म्मेदार बताया है। अपने कार्यकर्ताओं की बैठक में पवैया ने तोमर का नाम तो नहीं लिया था लेकिन परोक्ष रूप से तोमर पर ही निशाना साधते हुए कहा था, यदि बड़े तबके के लोग ने भी अपनी मर्यादा का ध्यान रखा होता तो शायद शिवराज सिंह मुख़्यमंत्री पद के लिए शपथ ले रहे होते।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved