fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

ममता बनर्जी ने मोदी की शपथ समारोह में आने से किया इंकार

mamata-banerjee-refuses-modi's-invitation-to-attend-oath-ceremony
(Image Credits: The Hans India)

दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने जा रहे नरेंद्र मोदी आज शपथ ग्रहण करेंगे। इस शपथ समारोह में कई देश के नेता शामिल होंगे। परन्तु पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शपथ समारोह में आने से मना कर दिया। शपथ समारोह से ठीक पहले ही मोदी पर गुस्सा निकालते हुए ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी के साथ ग्रहण में आने से मना कर दिया और अपने ना आने की वजह भी बताई।

Advertisement

बुधवार को भारतीय जनता पार्टी ने जैसे ही पश्चिम बंगाल के राजनीती में बीजेपी के जीन 54 कार्यकर्ताओ के साथ घटना हुई तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके परिवार वालो को शपथ समारोह में आमंत्रित किया,जिसकी वजह से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने समारोह से दूरी बना ली। पश्चिम बंगाल की सीएम ने ऐलान कर दिया कि गुरुवार को वह उत्तरी 24 परगना का दौरा करेंगी और बीजेपी द्वारा हमले का शिकार हुए तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के समर्थन में विरोध प्रदर्शन करेंगी।

गौरतलब है कि मंगलवार को ममता बनर्जी को जब मोदी के शपथ समारोह में शिरकत करने का निमंत्रण भेजा गया था तब उन्होंने समारोह में जाने की बात कही थी। उन्होंने अन्य मुख्यमंत्रियों से विचार-विमर्श के बाद कहा था कि पीएम के शपथ समारोह में शामिल होना “संवैधानिक शिष्टाचार’ का हिस्सा है।

ममता बनर्जी ने ट्वीटर पर कहा, “बधाई, नए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी। आपके संवैधानिक आमंत्रण को मैंने स्वीकार कर लिया था और आपके शपथ ग्रहण समारोह में मैं आने को तैयार थी। लेकिन एक घंटे पहले मैंने मीडिया रिपोर्ट्स देखी कि बीजपी दावा कर रही है कि पश्चिम बंगाल की हिंसा में उनके 54 लोगो घटना हुई ।” उन्होंने आगे लिखा, “यह बिल्कुल ही असत्य है। बंगाल में कोई भी राजनीतिक घटना नहीं हुई है। ये हादसे आपसी रंजिश, पारिवारिक कलह और मतभेदों की वजह से हुई हैं, इनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। हमारे पास ऐसे कोई रिकॉर्ड मौजूद नहीं हैं।” पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि शपथ समारोह “लोकतंत्र का जश्न मनाने वाला था, लेकिन किसी राजनीतिक दल द्वारा नीचा दिखाने और सियासी बढ़त के लिए नहीं होना चाहिए। कृपया मुझे माफ करें।”

प्रधानमंत्री के शपथ समारोह में उन कार्यकर्ताओं को भी आमंत्रित किया गया है, जिनको लेकर बीजेपी ने दावा किया है कि उनके परिजनों के साथ राजनीतिक घटना हुई है। पीड़ितों के परिजन समारोह में शिरकत करने दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इन्हीं लोगों में कृष्णेंदु सरकार भी शामिल हैं, जिनके पिता के साथ 27 जुलाई, 2018 को 24 परगना जिले के मंदिरबाजार इलाके में दुखद हादसा हुआ।


सरकार का कहना था, “प्रधानमंत्री के शपथ समारोह में शामिल होने के लिए हमें आमंत्रित किया गया है। हमारा मुख्य लक्ष्य है कि मेरे पिता को न्याय मिले। हम निमंत्रण मिला है, इसको लेकर हम काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं। यह पहली बार है जब मैं दिल्ली जा रहा हूं।” कृष्णेंदु हावड़ा रेवले स्टेशन पर हाथों में पिता की तस्वीर लिए अपने चाचा के साथ रवाना हुए।

इन बातो से पता चलता है की ममता बनर्जी बीजेपी सरकार और मोदी को झूठा साबित कर रही है। वही अपना गुस्सा निकालते हुए शपथ समारोह में आने से मन भी कर दिया। वही बीजेपी अपने किये पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है। बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ हुइ दुखद घटना से सभी शोक में डूबे थे परन्तु यहाँ ऐसा लगता है की बीजेपी एक बड़ा राजनितिक खेल खेल रही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved