fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

ममता बनर्जी के भतीजे ने BJP की इस हरकत का दिया मुहतोड़ जवाब

Mamata-Banerjee's-nephew-gave-strong-reply-to-BJP
(image credits: india today)

चुनाव से पहले हो या चुनाव के बाद, राम मुद्दा थमने का नाम नहीं ले रहा। राम के नाम पर लोगो से वोट हथियाने वाली बीजेपी सरकार लोगो की भावनाओ से खेल रही है और यह सभी जानते है की राम मंदिर को लेकर मोदी सरकार आगे भी कोई काम नहीं करेगी। यही नहीं बीजेपी सरकार लोकसभा चुनाव जीतने के बाद भी राम मंदिर के नारे लगाए जा रही है। पश्चिम बंगाल में भी चुनाव के दौरान राम के नारे लगाए गए थे।

Advertisement

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के चुनावी सभाओ में लोगो ने राम नाम के नारे लगाए थे। जिसके बाद से मोदी सरकार और बीजेपी के बीच में इस मामले ने काफी तूल पकड़ ली। बीजेपी के कार्यकर्ताओं की इस हरकत को देख कर ममता बनर्जी ने भी उन पर हमला बोलै यहाँ तक की ममता बनर्जी के भतीजे हरकत के लिए भाजपा पर हमला किया।

तृणमूल कांग्रेस नेता और ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधाते हुए दावा किया, ‘बीजेपी के ‘जय श्री राम’ के नारे से टीआरपी कम हो गई है और उन्होंने पार्टी को ‘जय महाकाली’ के नारे के साथ आने को कहा।

बता दें कि बीजेपी और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के बीच ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने पर विवाद चल रहा है। पीटीआई के मुताबिक अभिषेक बनर्जी ने कहा, ‘बीजेपी ने अपना नारा ‘जय श्री राम’ की जगह ‘जय महाकाली’ करने का फैसला किया है क्योंकि राम की टीआरपी कम हो गई है। बीजेपी धर्म को राजनीति के साथ मिला रहे हैं।’ गौरतलब है कि टीआरपी का मतलब टेलिविजन रेटिंग प्वाइंट होता है और इससे किसी चैनल की लोकप्रियता का पता लगता है।

दरअसल लोकसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल में बीजेपी को मिली बढ़त के बाद बीजेपी कार्यकर्ता, ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साध रहे हैं। मई में दो बार उनके सामने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए गए जिसके बाद ममता ने नाराजगी भी जाहिर की थी. ममता ने नारा लगाने वालों को अपराधी और बाहर से आया हुआ बताया था। हालांकि बीजेपी के हस्तक्षेप के बाद ममता ने फेसबुक पर सफाई देते हुए कहा था कि उन्हें इस नारे से कोई आपत्ति नहीं है लेकिन बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा जिस तरीके से इसका प्रयोग किया जा रहा है उससे अशांति का माहौल पैदा करने की कोशिश की जा रही है, वे धर्म को राजनीति में मिला रहे हैं।


इसके चलते ममता ने फेसबुक और ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल पिक्चर भी बदल दी थी और उस पर जय हिंद जय बंगला लिखा हुआ था। वहीं सोमवार को बीजेपी ने बयान जारी किया था कि वह पश्चिम बंगाल में तब तक जय श्री राम और जय महाकाली के नारे के साथ कैंपेनिंग करती रहेगी जब तक ममता बनर्जी की सरकार सत्ता से बाहर नहीं हो जाती।

पीटीआई के मुताबिक बीजेपी नेता और पार्टी के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था, ‘बंगाल में हमारा नारा ‘जय श्री राम’ और ‘जय महाकाली’ होगा। बंगाल महाकाली की धरती है और हमें भगवान के आशीर्वाद की जरूरत है। बता दें कि लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में 42 में से 18 सीटें जीती हैं. वहीं 2014 में बीजेपी ने यहां केवल 2 सीटें जीती थीं।

देखा तो भाजपा राम को लेकर बड़ी राजनीति करती आ रही है। जहाँ वह राम नाम के नारे के साथ राम मंदिर को बढ़ावा दे रही है वही ऐसा लगता है की मंदिर के नाम पर गुंडागर्दी भी की जा रही है। देश के हर एक क्षेत्र में सिर्फ राम नाम के जयकारे लगाए जा रहे है आखिर ऐसा क्यों है ? राम की जन्म भूमि पर राम मंदिर के लिए प्रदर्शन करना तो सही है परन्तु किसी दूसरे राज्य में राम नाम के नारे क्यों। क्या बीजेपी यह साबित करना चाहती है की वह राम के बड़े भक्त है और आने वाले चुनाव में इसी का फायदा उठा कर फिर से जितने की आस में है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved