fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

कांग्रेस के घोषणा पत्र को लेकर मायावती का आया बड़ा बयान

mayawati-big-statement-on-congress-manifesto
(Image Credits: India Today)

चुनाव में जितने के लिए सभी रास्ते आजमा रही कांग्रेस पार्टी ने घोषणा पत्र निकला है जिस पर विपक्षी पार्टी हमला कर रहे है। देखा जाए तो इस बार भीं कांग्रेस पार्टी अपनी सरकार बनाने में नाकाम नजर आ रही है जिसके कारण वह ऐसे योजनाए लागू करने में लगी है जिससे उसे चुनाव में फायदा हो। परन्तु यह झूठे वादे कभी पुरे नहीं होंगे।

Advertisement

घोषणा पत्र पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने जमकर हमला बोला है और सवाल उठाये है। बसपा सुप्रीमो मायावती का कहना है की चुनाव घोषणा पत्र एक छलावा है। साथ ही भाजपा नेताओं पर जातिवादी तथा अनर्गल बयानबाजी का आरोप लगाया है।

मायावती ने बुधवार को अपने ट्वीट में कहा ‘लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र पूर्व के उनके वादों की तरह ही दिखावा और छलावा ज्यादा लगता है. कांग्रेस की लगातार वादाखिलाफी का ही परिणाम है कि उसके वादों के प्रति जनता में विश्वास नहीं है। वैसे इस मामले में कांग्रेस और भाजपा में ज्यादा फर्क नहीं है।

इससे पहले भी मायावती ने एक ट्वीट करके भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला था। उन्होंने ट्वीट में लिखा था की, ‘भाजपा के नेता बसपा-सपा-रालोद गठबंधन के हाथों हार के डर से इतने ज्यादा भयभीत हैं कि वे मुद्दों के बजाए गठबंधन और इसके शीर्ष नेताओं के खिलाफ जातिवादी तथा अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। इनके उकसावे में नहीं आना है और चुनाव में अच्छा रिजल्ट दिखाकर इन्हें मुंहतोड़ जवाब देना है।

मायावती ने मंगलवार को भी भाजपा और कांग्रेस दोनों को लताडा था और उन पर अमीरों को फायदा पहुंचाते हुए दलितों और अल्पसंख्यकों के साथ धोखा करने का आरोप लगाया। ओडिशा में एक रैली से अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए बसपा सुप्रीमो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजग सरकार पर जल्दबाजी में जीएसटी पेश करने और उसे उचित तरीके से लागू करने में नाकाम रहने का आरोप लगाया, जिससे देश के युवाओं में बेरोजगारी बढ़ी।


उन्होंने नोटबंदी पर भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधा और कहा कि जल्दबाजी में उठाए गए कदम से छोटे कारोबारियों और व्यापारियों को काफी नुकसान हुआ। मायावती ने कहा, ‘कांग्रेस और भाजपा दोनों भ्रष्ट हैं। कांग्रेस बोफोर्स घोटाले के लिए खबरों में थी तो भाजपा सरकार राफेल सौदे में फंसी हुई है।’ दोनों पार्टियों पर गुस्सा दिखाते हुए बसपा सुप्रीमो ने उन पर दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यक वर्गों के विकास के लिए कभी काम ना करने का आरोप लगाया।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, ‘दलितों की ओर उनकी भेदभावपूर्ण मानसिकता अब भी नहीं बदली है.’ उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान बेरोजगारी काफी बढ़ गयी। हालांकि, ओडिशा में बसपा की मौजूदा काफी सीमित है लेकिन पार्टी हाल के समय में राज्य में लोकसभा और विधानसभा दोनों चुनाव लड़ रही है।

मायावती के इस तीखे हुमले का जावद अभी ताख विपक्षी पार्टियों की तरफ से नहीं आया। बरहाल यही माना जा रहा है की कांग्रेस पार्टी का घोषणा पत्र सिर्फ दिखवाटी है जिसे चुनाव के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved