fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

सरकारी धन के दुरुपयोग को लेकर मायावती ने मोदी पर साधा निशाना

Mayawati-targets-Modi-over-misusing of-government-fund
(Image Credits: Patrika)

आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए राजनैतिक पार्टियों के प्रचार और विज्ञापनों में तेजी आने लगी है। और यह तेजी सोशल मीडिया साइट्स पर भी देखी जा रही है। हालांकि, प्रचार के अन्य सभी माध्यमों की तरह यहां भी बीजेपी ने सबको पछाड़ दिया है।

Advertisement

वही इन सभी मामलो पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी को घेर लिया है. बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने पीएम मोदी पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि पीएम मोदी ज्यादातर शिलान्यास जैसे कामों में ही व्यस्त रहे और प्रचार-प्रसार पर 3044 करोड़ खर्च किया। इस सरकारी धन से उत्तर प्रदेश जैसे पिछड़े राज्य के हर गांव में शिक्षा और अस्पताल की व्यवस्था हो सकती थी लेकिन बीजेपी के लिये प्रचार का ज्यादा तहत्त्व है शिक्षा और जनहित का नहीं।”

आपको बता दे की नवजीवन में छपे एक लेख के अनुसार दुनिया के सबसे बड़े सोशल मीडिया साइट फेसबुक ने अपने प्लेटफॉर्म पर राजनैतिक दलों के विज्ञापनों का आंकड़ा जारी किया है। इन आंकड़ों के अनुसार फेसबुक पर विज्ञापन पर खर्च के मामले में बीजेपी सबसे आगे ही नहीं है, बल्कि फेसबुक को मिलने वाले राजनौतिक विज्ञापनों की कुल रकम का आधे से ज्‍यादा बीजेपी का है। फेसबुक के अनुसार बीजेपी ने ‘भारत के मन की बात’ नाम के एक पेज के जरिए अपना विज्ञापन चलवाया, जिसके लिए सिर्फ फरवरी में उसने फेसबुक को 1.1 करोड़ रुपये का भुगतान किया। यही नहीं, एक अन्य पेज ‘नेशन विद नमो’ पर विज्ञापनों के लिए भी सिर्फ फरवरी में 60 लाख रुपये का भुगतान किया गया।

इस मामले में बीजेपी के सहयोगी दल भी उसी की राह पर चलते नजर आ रहे हैं। बीजेपी के बाद फेसबुक पर विज्ञापनों पर खर्च करने में उसके सहयोगी दलों का ही नाम है। आंकड़ों के अनुसार फरवरी महीने में फेसबुक विज्ञापनों पर बीजेपी और उसके सहयोगियों ने कुल मिलाकर 2.37 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

इसके बाद सबसे ज्‍यादा खर्च करने वालों में ओडीशा के सीएम और बीजेडी प्रमुख नवीन पटनायक सबसे ऊपर हैं। उन्‍होंने 32 विज्ञापनों पर फरवरी महीने में 8,62,981 रुपये खर्च किए। वहीं बीजेपी के लिए अमित शाह, जयंत सिन्‍हा, पीयूष गोयल और मुरलीधर राव जैसे बीजेपी नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने अपने और पार्टी के विज्ञापन पर फरवरी में डेढ़ लाख से 3 लाख रुपये खर्च किए हैं।


भाजपा और उसके समर्थकों का चुनावी विज्ञापन अभी से करोड़ों में पहुंच गया है. ईटी के मुताबिक इन्होंने फेसबुक पर 7 फरवरी से 2 मार्च तक 2 करोड़, 37 लाख रुपए खर्च किए हैं. इससे उलट क्षेत्रीय दलों ने सिर्फ 19.8 लाख रुपए खर्च किए. कांग्रेस और उसके समर्थकों का खर्च 10.6 लाख रुपए ही रहा। देख जाये तो सिर्फ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर ही भाजपा करोड़ो रूपए फूँक रही है वही भारतीय जनता पार्टी के यह आकड़े सिर्फ कुछ दिनों के ही है जिसमे भाजपा अपने प्रचार में पानी की तरह पैसे को बहा रही है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने इस बार बीजेपी को अपने प्रचार के लिए जानते के पैसे का दुरुप्रयोग करने कको लेकर जमकर लताड़ लगाई है। बीजेपी के द्वारा अब तक बीजेपी के प्रचार-प्रसार पर 3044 करोड़ रुपयों से ज्यादा खर्च किया जा चूका है जिसका भांडा मायावती ने सबके सामने फोड़ दिया है।

मायावती ने आगे ट्वीट कर कहा की, “बीजेपी और पीएम मोदी अपनी सरकार की नाकामियों पर से लोगों का ध्यान बांटने, गरीबी और बेरोजगारी जैसे जनहित के मुद्दे को असली चुनावी बहस बनने से रोकने के लिये हर प्रकार के गढ़े मुर्दे उखाड़ने की कोशिाश में लगे हुये हैं जो अतिनिन्दनीय है। जनता सावधान रहे।”

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved