fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

साध्वी प्रज्ञा सिंह ने चुनाव प्रचार के दौरान दिया विवादित बयान, नाथूराम गोडसे को बताया देशभक्त

Sadhvi-Pragya-has-given-controversial-statement-during-the-election-campaign,-told-Nathuram-Godse-as-a-patriots
(Image Credits: tHE Indian EXPRESS)

बीजेपी की तरफ से चुनाव लड़ रही साध्वी प्रज्ञा सिंह अपने विवादित बयानों से सुर्ख़ियों में बनी हुई है। साथ ही उनके चुनाव लड़ने पर कई लोगो ने आपत्ति भी जताई। लोगो का कहना है की साध्वी प्रज्ञा मालेगांव में हुई घटना की दोषी है। प्रज्ञा सिंह का विवादों से नाता पुराना रहा है जिसकी वजह से वह विपक्षियों के निशाने पर आती रही है।

Advertisement

इसी तरह एक ओर विवादित बयान देकर प्रज्ञा सिंह ने अपने लिए मुसीबत खड़ी कर ली है। हालांकि हंगामा होने के बाद उन्हें माफ़ी मांगनी पड़ी। प्रज्ञा सिंह नाथूराम गोडसे को देश भक्त बोल दिया था जिसके चलते वह विपक्षियों ने निशाने पर आ गयी। सोचने वाली बात है की जहाँ बीजेपी महात्मा गांधी को पितामा कहती है उनके गुणगान करती है वहीँ उनकी ही पार्टी के प्रत्याशी महात्मा के खिलाफ बयान देते है। बयान देने के बाद ही साध्वी को अपनी ही पार्टी से आलोचनाओं का सामना करना पड़ा।

नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने पर हर तरफ आलोचना के बाद बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने माफी मांग ली है। गुरुवार 16 मई, 2019 शाम यह दावा मध्य प्रदेश बीजेपी मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पराशर ने किया। पराशर ने एक न्यूज चैनल से कहा, “साध्वी बोली हैं कि वह आगे से इस तरह की गलती नहीं करेंगी।”

साध्वी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और आगे भी रहेंगे। दरअसल, अभिनेता से नेता बने मक्कल नीधि मय्यम यानि एमएनएम संस्थापक कमल हासन ने यह कह कर हाल ही में नया विवाद खड़ा कर दिया था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिंदू था। यह बात उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ध्यान में रख कर कही थी।

इसी पर और ‘भगवा आतंकवाद’ के मसले पर गुरुवार को प्रचार के दौरान एक पत्रकार ने साध्वी से पूछा जसिके जवाब में उन्होंने कहा, “नाथूराम गोडसे देश भक्त थे, हैं और रहेंगे। उन्हें आतंकवादी बोलने वाले अपने गिरेबान में झांक कर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जबाव दे दिया जाएगा।


बीजेपी नेता का यह बयान आने के कुछ ही देर बाद उनकी पार्टी ने इससे किनारा कर लिया और इसकी आलोचना की। प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी प्रवक्ता जी.वी.एल.नरसिम्हा राव ने कहा था, “हम उनके बयान से इत्तेफाक नहीं रखते हैं और उसकी कड़ी निंदा करते हैं। पार्टी इस बाबत उनसे स्पष्टीकरण भी मांगेगी। साथ ही साध्वी को अपने बयान के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।”

बीजेपी के प्रत्याशी अपने ही बोल बोले जा रहे है चाहे वह गलत हो या सही। बीजेपी इस प्रकार की बयान बाजी कर समाज को एक गलत रास्ते पर ले जा रही है परन्तु फिर भी कोई बड़ा एक्शन नहीं लिया जा रहा। आखिर बीजेपी पार्टी सिर्फ मांगी और कार्यवाही के नाम पर अपने लोगो का बचाव क्यों करती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved