fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री ने दिया बड़ा बयान, कहा- दलित होने के करण नहीं बनने दिया मुख्यमंत्री

The-Deputy-Chief-Minister-of-Karnataka-has-given-a-big-statement,-said- being-dalit-not-allowed-to-dalit-to-become-a-Chief-Minister
(Image Credits:The Hindu)

लोकसभा चुनाव करीब है जहां सभी पार्टियां एक दूसरे पर बयानबाजी करती नजर आ रही है। वहीं कुछ पार्टियों में उनके ही लोगो द्वारा पार्टी का असली चेहरा लोगो के सामने लाया जा रहा है। हम बात करने जा रहे है कर्नाटक के दलित नेता व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर की। जिन्होंने कांग्रेस की, अपने आप को दलित हितेषी बताने वाली छवि की असली सच्चाई उजागर कर दी है।

Advertisement

ऐसा हम इसलिए कह रहे है क्यूंकि कांग्रेस के ही मंत्री ने अपनी पार्टी के खिलाफ एक बड़ा बयान दिया है। दरअसल कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री ने पार्टी पर आरोप लगाया है की, राज्य में दलितो को दबाया जा रहा है, और उनके साथ भेदभाव भी किया जा रहा है। उनकी ही पार्टी के कुछ लोग दलितों को दबाने की कोशिशे में जुटे हुए है।

साथ उन्होंने बताया की उनके दलित होने के कारण पार्टी ने उन्हें एक एक बार नहीं बल्कि तीन बार मुख्यमंत्री बनने से वंचित रखा। पार्टी में कुछ लोग दलितों के उत्थान को रोकने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। दावणगेरे में एक कार्यक्रम में बोलते हुए उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर (G Parameshwara) ने कहा, ‘‘बसवलिंगप्पा मुख्यमंत्री नहीं बन पाए और के एच रंगनाथ के साथ भी ऐसा ही हुआ.”

आगे उन्होंने बताया हमारे बड़े भाई मल्लिकार्जुन खड़गे भी मुख्यमंत्री नहीं बन सके .. मैं खुद इससे तीन बार वंचित रह गया.. कुछ संकट के बाद उन्होंने मुझे उप मुख्यमंत्री बनाया.”परमेश्वर ने आरोप लगाया कि कुछ लोग उन्हें राजनीतिक रूप से दबाना चाहते हैं।

यह पहली बार नहीं है जब उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने इस प्रकार का बयान दिया है। पिछले साल मई में भी वो अपने एक बयान की वजह से सुर्खियों में रहे थे। जब उन्होंने कह दिया था कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी अगले पांच साल तक के लिए मुख्यमंत्री बने रहेंगे या नहीं यह अभी तय नहीं है.


यह बातें उन्होंने विश्वास मत पर मतदान से एक दिन पहले कही थी.जी परमेश्वर ने कहा कि कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन ने एच डी कुमारस्वामी के पूरे पांच साल मुख्यमंत्री बने रहने के तौर- तरीकों पर अब तक चर्चा नहीं की है। यह पूछे जाने पर कि क्या कुमारस्वामी पूरे पांच साल मुख्यमंत्री रहेंगे तो परमेश्वर ने कहा , ‘हमने उन तौर-तरीकों पर अब तक चर्चा नहीं की है.’

कांग्रेस द्वारा दलितों के साथ इस प्रकार का व्यवहार करने से एक बात तो सामने आती है की, कहीं न कहीं जब दलितों के हित की बात आती है तो बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियॉं का दलितों के प्रति उनका असली चेहरा सामने आ जाता है। इससे एक और बात साबित होती है की दोनों ही पार्टियां नहीं चाहती की बहुजन समाज का विकास हो। और इसके साथ साथ अगर पार्टी में कुछ दलित समुदाय से जुड़े लोग विकास की बात करते भी हैं तो पार्टियों द्वारा उन्हें दबाने की हर संभव कोशिश की जाती है।

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved