fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

त्रिपुरा: प्रधानमंत्री मोदी के सामने ही भाजपा मंत्री ने महिला मंत्री संतना के साथ की घिनौनी हरकत

Tripura:-BJP-minister-in-front-of-Prime-Minister-Modi's-performed-shameful-act-with-the-Education-Minister-Santana
(Image Credits: Oneindia Hindi)

महिला सुरक्षा और बेटी बचाओ जैसी बड़ी बड़ी बाते करने वाली भारतीय जनता पार्टी और उनके नेता किस तरह से महिलाओ के साथ व्यव्हार करते है यह आपको हम बताने जा रहे है। किस तरह के भाजपा के नेता अपनी ही महिला सहयोगी के साथ भरे मंच में घिनौनी हरकत करते हुए कैद हो गए।

Advertisement

मामला त्रिपुरा का है जहा त्रिपुरा के भाजपा सरकार के मंत्री मनोज कांति देब सार्वजनिक मंच पर अपनी एक सहयोगी वह सामाजिक कल्याण और शिक्षा मंत्री संतना चकमा की कमर पर हाथ रखते हुए कैद हो गए । वीडियो में महिला मंत्री मनोज कांति देब का हाथ हटाती दिख रही हैं। यह घटना कैमरे में कैद हो गई और इसका वीडियो वायरल हो गया है।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री बिप्लब देव भी उसी मंच पर मौजूद थे. इस घटना पर कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुए विपक्षी वाम दलों ने मंत्री को बर्खास्त करने की मांग की है. हालांकि वही इस मामले पर बीजेपी की ओऱ लगातार सफाई दी जा रही है। त्रिपुरा बीजेपी की तरफ से कहा कि यह महज विपक्ष की ओर से किया जा रहा दुष्प्रचार है। वही जब कैमरे में कैद हुए मंत्री मनोज कांति देब से पूछा गया तो वह बोले कि वीडियो से छेड़छाड़ हुई है।,

उन्होंने कहा की एक मंत्री के रूप में मैं ऐसा नहीं कर सकता वो भी जब प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री वहा मौजूद हो, वीडियो के साथ जिसने भी छेड़खानी की, वह बेहद गिरी और घटिया मानसिकता का व्यक्ति होगा। मैं तो उस दौरान केवल आगे आना चाह रहा था। इस वीडियो को एडिट किया गया है।

वही इस पुरे मामले पर वाम मोर्चे के संयोजक बिजन धर ने संवाददाताओं से कहा, “जिस मंच से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री विप्लब कुमार देव और अन्य लोग जनसभा संबोधित कर रहे थे उस मंच पर एक महिला मंत्री को गलत तरीके से छूने के लिए मोनोज कांती देव को बर्खास्त कर गिरफ्तार कर लेना चाहिए.”


उन्होंने कहा कि अलग अलग सोशल मीडिया साइट्स पर यह सार्वजनिक रूप से देखा गया कि देव ने समाज कल्याण और सामाजिक शिक्षा मंत्री संतना चकमा की कमर पर हाथ रखा था. चकमा एक युवा आदिवासी नेता हैं. उन्होंने कहा, “देव ने त्रिपुरा मंत्रीमंडल की एक मात्र महिला मंत्री के शील, पवित्रता और मर्यादा को सार्वजनिक मंच पर नुकसान पहुंचाया है जहां प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और अन्य महत्वपूर्ण व्यक्ति मौजूद थे.”

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के केंद्रीय समिति के सदस्य धर ने दावा किया कि 11 महीने पहले त्रिपुरा में भाजपा के सत्ता में आने के बाद जहां कई युवा और अधेड़ महिलाओं के साथ दुष्कर्म हो रहा है, उनकी हत्या हो रही है, वहीं सार्वजनिक मंच पर हुआ यह मामला बेहद निंदनीय और दंडनीय है. कुछ आदिवासी दल भी मंत्री के इस्तीफे और उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर जल्द ही आंदोलन करने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीं भाजपा प्रवक्ता नबेंदु भट्टाचार्य ने सभी आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि भाजपा सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं मिलने के बाद वाम मोर्चा ने अब झूठे और बिना मतलब के मुद्दों पर भाजपा मंत्रियों का चरित्र हनन शुरू कर दिया है.
वीडियो की पूरी सच्चाई क्या है इसकी अभी पड़ताल चल रही है, वीडियो में यह साफ़ दिख रहा है की कैसे भाजपा के मंत्री ने महिला मंत्री के कमर पर हाथ रखा और महिला ने उनका हाथ हटा दिया, सच्चाई कुछ भी हो पर भाजपा के मंत्री के द्वारा सरेआम खुले मंच पर ऐसी हरकत करना सच में बेहद निंदनीय और दंडनीय है

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved