fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

अखिलेश का रविदास मंदिर को लेकर बड़ा बयान, गिरफ़्तारी पर भाजपा को भी चेताया

true-face-of-bjp-exposed-akhilesh-yadav-demands-release-of-bhim-army-chief-chandrashekhar-azad-90-others-held-for-ravidas-temple-agitation

समाजवादी पार्टी  के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का रविदास मंदिर को लेकर बड़ा बयान सामने आया है अखिलेश ने दिल्ली के तुगलकाबाद में संत रविदास मंदिर को तोड़ने की घटना पर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा।  उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री ने कहा कि मंदिर तोड़ने से बीजेपी सरकार का संत-महात्मा विरोधी चेहरा उजागर हुआ है। रविदास मंदिर तोड़े जाने से एक बड़े वर्ग की भावना को ठेस पहुंचाने का काम भाजपा द्वारा किया गया है। 16वीं शतब्दी के संत रविदास की स्मृति के रूप में बने इस मंदिर से उनके अनुयायियों की श्रद्धा जुड़ी थी। 

Advertisement

अखिलेश ने रविवार को कहा कि भारतीय समाज में गुरुओं और संत-मह्त्माओं का सदैव आदर रहा है। उनके तमाम अनुयायियों के लिए उनका जीवन दर्शन हमेशा से प्रासंगिक और अनुकरणीय रहा है। उनकी स्मृति को चिरंजीव रखने और उनके माध्यम से समाज को प्रेरणा देने के लिए मंदिर का निर्माण होता रहा है। अखिलेश ने मंदिर तोड़ने का विरोध करने वाले अनुयायियों पर पुलिस के बल प्रयोग को भी अनुचित बताया। उन्होंने पुलिस की कार्रवाई को अनुचित और निंदनीय बताते हुए गिरफ्तार किए गए सभी लोगों को तुरंत रिहा करने की मांग की है।  सपा प्रमुख ने सभी दर्ज मुक़दमे भी वापस लेने की मांग की है। अखिलेश ने कहा कि संत रविदास समाज के सभी वर्गों के लिए सम्मानित हैं। 

आपको  बता दे की भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आज़ाद और 95 अन्य लोगों को दिल्ली पुलिस ने  गैरकानूनी तरीके से एकत्र होने के आरोप में गिरफ्तार किया है। उनपर और अन्य लोगो पर कई गंभीर आरोप और धाराएं लगा दी गई है ताकि जमानत तक न मिल सके। भीम आर्मी  ने शुक्रवार को चेतावनी दी है कि रविदास मंदिर का मुद्दा अगर 10 दिनों के अंदर नहीं सुलझा तो देशव्यापी बंद का आह्वान किया जाएगा। भीम आर्मी के राष्ट्रीय महासचिव कमल सिंह वालिया ने कहा, ‘अगर 10 दिनों के अंदर गुरु रविदास मंदिर का निर्माण नहीं किया जाता है तो हम भारत बंद का आह्वान करेंगे.’ उन्होंने कहा कि भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर उस समय तक जमानत की मांग नहीं करेंगे, जब तक उनके साथ गिरफ्तार अन्य लोगों को रिहा नहीं किया जाता। 


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved